Home > Archived > आय से अधिक संपत्ति‍ मामले में मायावती को झटका

आय से अधिक संपत्ति‍ मामले में मायावती को झटका

 Special News Coverage |  13 April 2016 10:19 AM GMT

आय से अधिक संपत्ति‍ मामले में मायावती को झटका

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी सुप्रीमो मायावती के लिए बहुत बुरी खबर है। सुप्रीम कोर्ट बुधवार को आय से अधिक संपत्ति‍ के मामले में उनके खिलाफ सुनवाई के लिए राजी हो गया। याचिकाकर्ता ने इस मामले में मायावती के खिलाफ नई एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा कि इस मामले में तुरंत कोई ऑर्डर तो पास नहीं होगा, लेकिन हम सुनवाई के लिए तैयार हैं।

हालांकि केंद्र सरकार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस मामले में नई एफआईआर दर्ज करने का कोई आधार नहीं है। मायावती के वकील ने कोर्ट से कहा कि इस मामले में याचिकाकर्ता कमलेश वर्मा बीएसपी के ही पूर्व सदस्य हैं, और यह मामला पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है।


सुप्रीम कोर्ट मायावती के खिलाफ नई FIR दर्ज करने की याचिका पर सुनवाई को तैयार हो गया है। इस मामले में सीबीआई ने मायावती का बचाव किया। सीबीआई की तरफ से पेश अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में कहा कि मायावती के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला नहीं बन सकता क्योंकि कोई मेटेरियल नहीं है। एजी ने कहा कि इस मामले में जनहित याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकती। ये मामला ताज कारीडार से अलग है।

जस्टिस एआर दवे पीठ ने कहा कि मामले की विस्तार सुनवाई की जायेगी। याचिकाकर्ता ने कहा कि मायावती के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का केस है, लेकिन सीबीआई केस दर्ज नहीं कर रही। जबकि हाईकोर्ट ने आयकर केस उनकी आय और उपहारों पर सवाल उठाये हैं। वहीं मायावती के वकील कहा कि याचिकाकर्ता बिजी बॉडी है और उसने बसपा से टिकट न मिलने के कारण बदले की कार्रवाई में याचिका दायर की है।

सुनवाई के दौरान सीबीआई ने माया का बचाव किया और कहा कि उनके खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट क्लीनचिट दी है, और अब वह कुछ नही कर सकती। वहीं सुप्रीम कोर्ट उनके मामले को 2011 में ही रद्द कर चुका है।

Tags:    
Share it
Top