Home > Archived > तृप्ति देसाई आज जाएंगी हाजी अली दरगाह, MIM ने दी कालिख पोतने की धमकी

तृप्ति देसाई आज जाएंगी हाजी अली दरगाह, MIM ने दी कालिख पोतने की धमकी

 Special News Coverage |  28 April 2016 5:39 AM GMT


तृप्ति देसाई


मुंबई : महाराष्ट्र में फिर एक बार धार्मिक जगहों पर महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव के खिलाफ जंग शुरू होने जा रही है। महिलाओं को इबादत का समान हक दिलाने के लिए भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई आज मुंबई की हाजी अली दरगाह का रुख करेंगी, लेकिन उनके इस कदम के विरोध में एमआईएम और धार्मिक संगठन एक साथ हो गए हैं। ऐसे में तृप्ति देसाई ने बॉलीवुड की तीनों खान स्टार से अपील की है कि वो इस मामले में अपना रुख साफ करें। क्योंकि इससे समाज पर बड़ा असर पड़ेगा। सवाल ये है कि क्या सलमान, शाहरुख और आमिर खान इस मामले में उनका साथ देंगे।


अथक संघर्ष के बाद महाराष्ट्र के तीन मंदिरों शनि शिंगणापुर, त्र्यंबकेश्वर मंदिर और कोल्हापुर के महालक्ष्मी मंदिर के गर्भ गृह में महिलाओं प्रवेश दिलाने के बाद अब तृप्ति देसाई गुरुवार को मुंबई के हाजी अली दरगाह की ओर कूच करने वाली हैं। हाजी दरगाह की मजार पर महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव के खिलाफ 28 अप्रैल को विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान तृप्ति ने किया है। लेकिन इस बार तृप्ति देसाई की राह पहले से ज्यादा मुश्किल होने वाली है। क्योंकि शिवसेना के बाद अब एमआईएम ने भी तृप्ति देसाई को धमकी दी है।

एमआईएम नेता रफत हुसैन के मुताबिक हमारे धर्म के खिलाफ जाएंगे तो हम कालिख 100 फीसदी पोतेंगे। तृप्ति देसाई कानून हाथ में ले सकती हैं तो हम क्यों नहीं? इतना ही नहीं रफत हुसैन ने तृप्ति पर मुस्लिम औरतों को भड़काने की कोशिश का भी आरोप लगाया है। इससे पहले शिवसेना नेता हाजी अराफात तृप्ति को चप्पल से पीटने की चेतावनी दे चुके हैं।




शिवसेना और एमआईएम के अलावा इस्लामिक सगंठन आवाम विकास पार्टी की खातून ब्रिगेड ने भी ऐलान किया है कि वो किसी भी हाल में इस्लामिक परंपरा टूटने नहीं देंगे। गुरुवार को खातून ब्रिगेड की करीब 200 महिलाएं हाजी अली के बाहर ह्यूमन चैन बनाकर तृप्ति देसाई को रोकेंगी।

आवामी विकास पार्टी की महिला विंग की अध्यक्ष नूर बानो ने कहा है कि किसी भी हाल में तृप्ति देसाई को मजार पर पहुंचने नहीं देंगे। वहीं इन धमकियों के बावजूद भी तृप्ति देसाई का कहना है कि की चाहे जो हो जाए, लेकिन वो महिलाओं को उनका हक दिलाने के लिए आखरी दम तक संघर्ष करती रहेगी। अब बीजेपी तृप्ति के बचाव में आगे आई है।

बीजेपी नेता सायना एनसी का कहना है कि किसी की हिम्मत नहीं हो सकती की महिला को चप्पल से मारे। अगर मंदिर में एंट्री मिलती है तो मस्जिद में भी मिलनी चाहिए। हर महिला यही चाहती है की भक्ति की जगह पर सम्मान मिले। यह मुद्दा महिला के सम्मान का है राजनीती का नहीं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top