Home > Archived > राज्यसभा में मिथुन चक्रवर्ती की छुट्टी पर मचा बवाल!

राज्यसभा में मिथुन चक्रवर्ती की छुट्टी पर मचा बवाल!

 Special News Coverage |  26 April 2016 10:18 AM GMT

राज्यसभा में मिथुन चक्रवर्ती की छुट्टी पर मचा बवाल!

नई दिल्ली: अभिनेता और तृणमूल कांग्रेस के सदस्य मिथुन चक्रवर्ती द्वारा स्वास्थ्य संबंधी कारणों के चलते वर्तमान संसद सत्र में पेश होने से असमर्थता जताते हुए छुट्टी मांगे जाने पर सदस्यों ने आपत्ति जताई। सदन में शून्यकाल के दौरान उप सभापति पी जे कुरियन ने कहा कि मिथुन चक्रवर्ती ने स्वास्थ्य ठीक न होने का हवाला देते हुए संसद सत्र में शामिल होने पर असमर्थता जताई है और पूरे सत्र से छुट्टी मांगी है।

इस पर सपा के नरेश अग्रवाल ने आपत्ति जताते हुए कहा कि मिथुन लगभग हर सत्र में ऐसा ही करते हैं। उन्होंने कहा कि अवकाश मांगे जाने की कोई सीमा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी सदस्य का बीमार होना अलग बात है और ऐसे में कुछ भी नहीं किया जा सकता। लेकिन हर बार तबियत का कारण बताकर छुट्टी लेना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि यह मिली सुविधाओं का दुरूपयोग है जो नहीं होना चाहिए।


तृणमूल कांग्रेस के सुखेंदु शेखर राय ने कहा कि मिथुन ने अपनी मेडिकल रिपोर्ट भेजी है और उनका स्वास्थ्य ठीक न होने की वजह से वह नहीं आ सकते। उनके आग्रह पर सकारात्मक तरीके से विचार किया जाना चाहिए। जदयू नेता के सी त्यागी ने कहा कि राजनीतिक दलों के कई कार्यकर्ता जनता के लिए सक्रिय हो कर काम करते हैं और कई बार तो लंबे समय के लिए जेल भी जाते हैं। राजनीतिक दलों को चाहिए कि वह ऐसे कार्यकर्ताओं को चुनकर सदन में भेजें न कि ऐसे चर्चित नामों को जो अपने क्षेत्रों में तो सक्रिय रहते हैं लेकिन सदन में नहीं आते।

त्यागी ने इस संबंध में एक आचार संहिता बनाने की मांग भी की। उप सभापति पी जे कुरियन ने कहा कि वह इस पर विचार करेंगे। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के सदस्य के के घोष द्वारा दिए गए अवकाश के आवेदन का भी जिक्र किया। घोष करोड़ों रुपए के सारदा घोटाला मामले में आरोपी हैं और फिलहाल जेल में बंद हैं। बाद में सदन ने उनके और मिथुन चक्रवर्ती के छुट्टी के अनुरोधों को स्वीकार कर लिया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top