Top
Home > Archived > केन्द्रीय भूविज्ञान मंत्री का आगमन भी उप चुनाव में नही बना पाया भाजपा की पकड़

केन्द्रीय भूविज्ञान मंत्री का आगमन भी उप चुनाव में नही बना पाया भाजपा की पकड़

 Special News Coverage |  30 Jan 2016 1:35 AM GMT

dr harshvardhan

सहारनपुर (दिनेश मोर्य): केन्द्रीय विज्ञान, प्रोद्योगिकी एवं भूविज्ञान मंत्री डा0 हर्ष वर्धन का सहारनपुर दौरा केवल दिल्ली रोडस्थित एक निजी अस्पताल एवं एक दैनिक समाचार पत्र के कार्यालय तक ही सिमट कर रह गया। जिससे स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं को सिर्फ निराशा ही हाथ लगी।

केन्द्रीय मंत्री के इस निजी कार्यक्रम से देवबंद विधान सभा क्षेत्र के उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी को जो लाभ होने के कयास लगाये जा रहे थे उस पर भी पूरी तरह से पानी फिर गया।




प्रधानमंत्री नरेन्द्र मेादी एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मौजूदा समय में 2017 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा के आम चुनाव को लेकर बडे पैमाने पर सियासी व्यूहरचना करने मे लगे है। ताकि यूपी में आने वाली सरकार भारतीय जनता पार्टी की बन सके। परन्तु इसके वितरित केन्द्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं भूविज्ञान मंत्री डा0 हर्ष वर्धन जिस प्रकार से सिर्फ एक निजी अस्पताल व एक दैनिक समाचार पत्र के कार्यक्रम तक ही सिमटे रहे। उससे पार्टी कार्यकर्ताओं मे आक्रोश तो है ही साथ ही इस व्यवहार से भाजपा के लिये मिशन 2017 की सफलता पर भी सवालिया निशान उठाये जा रहे है। निजी अस्पताल के कार्यक्रम में पार्टी सांसद राघव लाखन पाल शर्मा एवं नगर विधायक राजीव गुम्बर मौजूद रहे।

व्यापारियों ने आमजन से जुड़ी समस्याओं का ज्ञापन मंत्री डा. वर्धन को सौंपा
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल की जिला इकाई पदाधिकारियों ने विज्ञान, प्रोद्योगिकी एवं भू विज्ञान मंत्री डा. हर्ष वर्धन को जनमानस से जुडी समस्याओं का ज्ञापन सौंपकर निस्तारण की मांग की है।


मंत्री डा. वर्धन को सौंपे गये ज्ञापन में कहा गया कि जीएसटी व्यवस्था को लागू करने से पहले उद्योग और व्यापार जगत के प्रतिनिधियों के महत्वपूर्ण सुझाव शामिल किये जाने चाहिए। व्यापार मंडल इसका समर्थन इस शर्त के साथ करता है कि जीएसटी सिंगल प्वान्ट लगे अर्थात एक ही अधिकारी आजीवन लाईसेंस दे वही हमारा असेसमेंट करें और वही पर ही हम टैक्स जमा करें जैसा कि वर्तमान में वैट व्यवस्था में है। ज्ञापन में कहा गया कि अगले माह संसद में किये जाने वाले बजट के सम्बन्ध में व्यापार मंडल की मांग है कि आयकर की छूट की सीमा 5.00 लाख रुपये वार्षिक आमदनी तक हो तथा सीनियर सिटीजन एवं महिलाओं के लिए यह झूठ 7.00 लाख होनी चाहिए। टीडीएस केवल सेविंग बैंक और एफडी की 50000 की आमदनी के बाद ही काटा जाए। ज्ञापन में टोल टैक्स की व्यवस्था को समाप्त किये जाने की मांग की गई। ज्ञापन देने वालों में मंडल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं जिलाध्यक्ष शीतल टंडन, जिला महामंत्री राम राजीव सिंघल, संजय भसीन, मेजर एसके सुरी, रमेश डाबर, अवनीश गर्ग, यशपाल मैनी, कृष्ण लाल ठक्कर, महेश नारंग, अमित गगनेजा, कमल गुप्ता, पवन गोयल आदि शामिल रहे।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it