Top
Home > Archived > यूपी: मंत्री जी ने जब खुद पकड़ा सचिवालय में दलाल, गोरखधंधे का भंडाफोड़

यूपी: मंत्री जी ने जब खुद पकड़ा सचिवालय में दलाल, गोरखधंधे का भंडाफोड़

 Special News Coverage |  29 March 2016 11:12 AM GMT

यूपी: मंत्री जी ने जब खुद पकड़ा सचिवालय में दलाल, गोरखधंधे का भंडाफोड़

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखनऊ में पैसे लेकर कैदियों को पैरोल दिलाने के मामला सामने तब आया, जब एक पीड़ित की शिकायत पर जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया ने सचिवालय भवन के सेक्शन 3 स्थित कारागार विभाग में खुद छापेमारी की। छापे के दौरान एक दलाल को पकड़ा। कार्रवाई के दौरान रामूवालिया ने विभाग से कई दस्तावेज जब्त किए और आरोपी घूसखोर कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया। जेल मंत्री द्वारा किये गए इस कार्रवाई से पूरे डिपार्टमेंट में हडकंप मच गया, इस दौरान मंत्री कई दस्तावेज भी सीज किये।


जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश के जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया ने सोमवार को सचिवालय स्थित अपने मंत्रालय के एक अनुभाग में छापा मारा। इस दौरान उन्होंने अनुभाग तीन में बिचौलिये का काम करने वाले संतोष कुमार श्रीवास्तव नाम के एक शख्स को पकड़ा और उसे हजरतगंज पुलिस को सौंप दिया। जेल मंत्री रामूवालिया को मथुरा के एक व्यक्ति ने शिकायत की थी कि उसके बेटे को पैरोल देने के बदले घूस ली गई है। उससे पांच हजार रुपये रिश्वत मांगी गई थी। रिश्वत देने के एक साल बाद भी पैरोल मंजूर नहीं की गई।

आपको बता दें कि मथुरा के रहने वाले राम भारद्वाज नाम के शख्स का बेटा पिछले कई सालों से जेल में बंद है, बेटे के पैरोल के लिए राम भारद्वाज ने 2009 से अधिकारियों के लगातार चक्कर लगा रहे थे, लेकिन विभागीय कर्मचारी और अधिकारियों की उदासीनता के चलते इनके बेटे को पैरोल नहीं मिली। इसी दौरान पीड़ित का संपर्क सचिवालय भवन के सेक्शन तीन में तैनात बाबू संतोष श्रीवास्तव से हुआ और संतोष ने पैरोल के लिए उनसे 5 हजार रुपए की मांग की। पीड़ित बुजुर्ग ने विभागीय बाबू को 5 हजार रुपए भी दिए, लेकिन इसके बावजूद भी उनके बेटे को पैरोल नहीं मिली।

इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए रामूवालिया ने सचिवालय में छापा मारा। पकड़ा गया बिचौलिया संतोष कुमार श्रीवास्तव पूर्व में सचिवालय में सुरक्षा सहायक के पद पर तैनात रहा है।

होगी कड़ी कार्रवाई अगर सुधार नहीं हुआ तो
जेलो में न तो अभी तक आरओ लगा और न ही पीसीओ। कारागार के लिए बहुत सी योजना बनी है लेकिन उसे क्रियान्वित नहीं किया जा रहा है। इससे बंदियो की असुविधा बढ़ रही है। हमने चेतावनी दे दी है कि सुधार नहीं हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it