Home > Archived > बुंदेलखंडः कर्ज में डूबे लाचार किसान ने की आत्महत्या

बुंदेलखंडः कर्ज में डूबे लाचार किसान ने की आत्महत्या

 Special News Coverage |  18 April 2016 7:24 AM GMT


sad indian farmer
बांदा
बुंदेलखंड में किसानों की आत्महत्या का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है। पिछले एक सप्ताह में ये तीसरी मौत है। जबकि प्रसाशन ओर सरकार आंख मुदकर देख रही आत्महत्या का खेल। फसल की पैदावार अच्छी न होने और कर्ज का बोझ उठाने में लाचार रविवार को एक और किसान ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। अब लाचार बेबस किसान कुछ नही कर सकता आत्म हत्या के सिवा।

इसे भी पढ़ें कर्ज और फर्ज से परेशान दुखी किसान ने की आत्महत्या, 16 अप्रैल को नातिन की शादी



मामला बांदा के चिल्ला थाना क्षेत्र के बंबिया गांव का है। जहां 30 वर्षीय किसान आशाराम का शव उसके घर की अटारी से लटकता मिला। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम कराया। बताया जाता है कि मृतक के पास सिर्फ चार बीघा जमीन है, जिसमें इस साल अच्छी पैदावार नहीं हुई।

इसे भी पढ़ें बुन्देलखण्ड में तीन दिन में दूसरे किसान ने की आत्महत्या, अबकी बेटे ने लगाया मौत को गले

परिजनों ने बताया कि खेती सूखे के चलते हो नहीं पायी और खेती के लिए बैंक से लिया क़र्ज़ भी बढ़ रहा था। साथ ही बहन की शादी के लिए भी साहूकारों से कर्ज लिया था। जिससे आशाराम परेशान रहता था। इस संबंध में जिलाधिकारी का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है और जो भी मदद होगी कराई जायेगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top