Top
Home > Archived > मात्र 8 घंटे में क्राइम ब्रांच की टीम ने ने छात्र को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाया

मात्र 8 घंटे में क्राइम ब्रांच की टीम ने ने छात्र को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाया

 Special News Coverage |  4 April 2016 3:10 AM GMT



भदोही
बीते शनिवार को की शाम चार बजे 13 वर्षीय आषुतोष सिंह उर्फ छोटू पुत्र अरविन्द सिंह निवासी धनतुलसी कक्षा 6 के छात्र का अपहरण स्कूल से घर जाते समय धनतुलसी बस स्टैन्ड़ के पास दो मोटर साइकिल पर सवार पाॅंच बदमाशों ने करकर फरार हो गये। घटना के जानकारी होते ही पुलिस अधीक्षक ने मासूम छात्र अपहरणकर्ता के चंगुल से छुड़ाने के लिए टीम गठित कर दिया ।पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने मात्र आठ घंटे के भीतर छात्र की अपहरणकर्ता के चंगुल से सकुशल छुड़ाते हुए चार अपहरणकर्ता गिरफ्तार को गिरफ्तार किया ।पुलिस टीम को डीआईजी व पुलिस अधीक्षक ने 15000 हजार रूपये की नगद घोषणा की।



प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शनिवार की शाम चार बजे स्कूल के वापस घर जाते समय कक्षा 6 के 13 वर्षीय आषुतोष सिंह उर्फ छोटू पुत्र अरविन्द सिंह निवासी धनतुलसी का अपहरण स्कूल से घर जाते समय धनतुलसी बस अड्डे के पासी सांय के पास दो मोटर साइकिल पर सवार पाॅंच बदमाषों द्वारा कर लिया गया । 6 छात्र कोईरौना स्थित दयावन्ती पुंज माडल स्कूल सीतामढ़ी में पढ़ाई करता है। उसके माता पिता मुम्बई में रहकर व्यवसाय करते हैं। उन्हे दिनांक को शाम को ही करीब 04:30 बजे फोन पर धमकी देते हुए अज्ञात व्यक्तियों ने 25 लाख रूपये के फिरौती की मांग करते हुए उसके पिता को धमकाया कि छः दिनों के अन्दर पूरा पैसा नही मिलने पर उसके बेटे की हत्या कर दी जायेगी। पिता द्वारा अपनी बेटी कोमल को फोन द्वारा अवगत कराया गया। जिसके क्रम में अपहृत के बहन द्वारा थाना स्थानीय पर मुकदमा पंजीकृत हुआ था। इसे गम्भीरता से लेते हुए लल्लन प्रसाद यादव अपर पुलिस अधीक्षक एवं एसएस पाण्डेय सीओ ज्ञानपुर द्वारा स्वंय हर घण्टे मानीटरिंग करने का निर्देश दिया गया। जिसके परिणाम स्वरूप पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने मुखबीर की सूचना पर हल्की मुठभेड़ के बाद चार शातिर अपहरणकर्ताओं को करवधिया नाला थाना क्षेत्र कोईरौना के पास से गिरफ्तार कर उनके चंगुल से अपहृत बालक को 8 घण्टे में मुक्त कराया गया ।साथ ही अपहरण में प्रयोग की गयी दो अदद मोटर साइकिले व दो अदद तमंचा मय कारतूस बरामद करते हुये थाना सम्बन्धित मुकदमा पंजीकृत किया गया। अपहरणकर्ताओं मे अपहृत का सगा मामा लल्ला सिंह ही गैंग का सरगना निकला।पूछताछ में बताया कि उसके बेटे के दिल में सुराग है जिसके इलाज के लिये 15 लाख रूपये की आवश्यकता है। इसी कारण उसने अपने साथियों को तैयार कर घटना को अंजाम दिया, फिरौती से मिलने वाले रूपये में उसे बड़ा हिस्सा मिलता, चूंकि अपहृत ने मामा लल्ला सिंह को पहचान लिया था, इस कारण फिरौती की रकम मिलने के बाद उसे मार देने की योजना थी।

पकड़े गये अभियुक्त
लल्ला सिंह पुत्र राय बहादुर सिंह निवासी ढ़ोकरी थाना हण्डिया जनपद इलाहाबाद, पंकल सिंह पुत्र राजेन्द्र प्रताप सिंह, रजनीष प्रताप सिंह, उमेश सिंह है।

वही बरामदगी टीम में

हरवंश यादव (थानाध्यक्ष काईरौना), विनोद कुमार राय (प्रभारी सर्विलांस/स्वाट क्राइम ब्रान्च), उ0नि0 श्री रमेशचन्द्र यादव (प्रभारी चैकी कटरा),सचिन झां (क्राइम ब्रान्च), इमरान खां (क्राइम ब्रान्च),ब्रज किषोर शर्मा (क्राइम ब्रान्च),का0 सिकन्दर (क्राइम ब्रान्च),का0 फैजान खाॅ (क्राइम ब्रान्च), ओमप्रकाष यादव (क्राइम ब्रान्च),का0 चालक सुभाष सिंह (क्राइम ब्रान्च),हे0का0प्रो0 लालचन्द्र यादव ,हे0का0प्रो0 काशी नाथ गौड़ सहित अन्य पुलिस कर्मी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it