Top
Breaking News
Home > Archived > कैबिनेट मंत्री आजम का बयान, 2017 में यूपी नहीं बनेगी सपा की सरकार

कैबिनेट मंत्री आजम का बयान, 2017 में यूपी नहीं बनेगी सपा की सरकार

 Special News Coverage |  29 April 2016 7:21 AM GMT


लखनऊ
उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खां को 2107 में उत्तर प्रदेश में फिर से समाजवादी पार्टी की सरकार बनने में संदेह है। मुरादाबाद में कल आजम खां ने बिलारी विधानसभा उप चुनाव के नामांकन में इसका संकेत दे भी दिया।


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ समाजवादी पार्टी के सभी बड़े नेता भले ही दावा करें कि 2017 में उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी, लेकिन पार्टी के फायर ब्रांड नेता आजम खां इससे सहमत नही है। मुरादाबाद के बिलारी में कल आजम खां ने इसका संकेत भी दे दिया। आजम खां कल बिलारी उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मुहम्मद फहीम के नामांकन में शामिल होने आये थे। उन्होंने इस मौके पर कहा कि उत्तर प्रदेश में अगली सरकार समाजवादी पार्टी की नहीं बनी तो भारतीय जनता पार्टी के साथ कोई मिलकर सरकार बनाएगा। उन्होंने वहां पर मौजूद लोगों से सवाल भी दागा। आजम ने कहा कि आप लोग समाजवादी पार्टी को किस बात की सजा दोगे, यह तो हमको बता दो। उत्तर प्रदेश में अगली सरकार क्या उन लोगों की बनाना चाहते हो जो गुजरात की जुबान में नारा लगाते हैं। आजम खां ने कहा कि हमें 11 महीने बाद आ रही मंजिल को पार करना है। भाजपाइयों ने तीसरी पार्टी (बसपा) के लिए कहना शुरू कर दिया है कि वो सत्ता में आएगी। भाजपा का असली काम अपने को पीछे हटाकर रखना है। अब तक एक हाथ का हथियार बर्दाश्त नहीं हो रहा है, फिर तो दोनों हाथों से हथियार इस्तेमाल किए जाएंगे।



आजम ने फहीम को बताया अपना बेटा
आजम खां ने बिलारी से प्रत्याशी स्वर्गीय हाजी इरफान के बेटे फहीम को अपने बेटे समान बताया। आजम ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर एक भी इल्जाम साबित कर दो मैं अपने इस 'बेटेÓ का नाम वापस ले लूंगा। आजम ने अंबेडकर पार्क में आजम ने बिलारी क्षेत्र के मरहूम विधायक हाजी मुहम्मद इरफान की वफादारी का जिक्र किया। 10 मार्च को सड़क हादसे में उनकी मौत हो गई थी, जिसके बाद से बिलारी सीट खाली चल रही थी। अब इस सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए 16 मई को मतदान होगा। यहां पर समाजवादी पार्टी ने उनके बेटे फहीम को प्रत्याशी बनाया है। आजम ने कहा कि तय आप को करना है और साफ सुथरी छवि वाले शख्स को वोट देना है।


टूटी आचार संहिता की धज्जियां
बिलारी उपचुनाव में सपा प्रत्याशी मुहम्मद फहीम के नामांकन में आचार संहिता की धज्जियां उड़ीं। सपाइयों के सैलाब के आगे कोई नियम एवं कानून नहीं टिक सके। सूबे के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां के साथ सैकड़ों की संख्या में सपाई कलक्ट्रेट पहुंचे। प्रवेश के दौरान चुनिंदा सपाई थी, बाद प्रशासन ने सुरक्षा का भारी बंदोबस्त कर रखा था लेकिन सपाइयों की भीड़ के आगे इंतजाम धरे रह गए। नामांकन में प्रत्याशी के साथ केवल पांच लोगों को जाने की इजाजत है। इसके बाद भी करीब 20-25 बड़े और छोटे नेता नामांकन कक्ष में मौजूद रहे। नामांकन कक्ष में कुछ फोन पर भी बात करते दिखाई दिए। इनमें आजम खां भी थे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it