Home > Archived > मेरठ में धर्म विरोधी नारेबाजी से तनाव, पुलिस ने दर्ज किया मामला

मेरठ में धर्म विरोधी नारेबाजी से तनाव, पुलिस ने दर्ज किया मामला

 Special News Coverage |  25 Feb 2016 1:59 PM GMT


meerut
मेरठ
जिले के सरधना क्षेत्र में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति और एआईएमआईएम के कार्यकर्ताओं ने एक धर्म के खिलाफ कथित रूप से नारेबाजी की जिससे इलाके में तनाव फैल गया। हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुए उप्रदव में मुजफ्फरनगर के लोई गांव के दलित युवक कुलदीप की 21 फरवरी को सोनीपत में हत्या कर दी गई थी। इस पर सरधना में भाटवाड़ा मोहल्ले में स्थित अंबेडकर धर्मशाला में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति और मजलिसे इत्तेहादुल मुसलमीन द्वारा बुधवार को शोकसभा का आयोजन किया गया था। ये नारे शोकसभा के बाद लगाए गए।



इसे भी पढ़ें
आगरा में दिन दहाड़े VHP नेता की गोली मारकर हत्या, भारी बवाल

पुलिस अधीक्षक (देहात) प्रवीण रंजन ने बताया कि कुलदीप को श्रद्धांजलि देने के बाद संघर्ष समिति के सदस्य जुलूस की शक्ल में सरधना तहसीलदार को अपनी मांगो के संबंध में ज्ञापन सौंपने जा रहे थे। इस दौरान जुलूस में शामिल कुछ लोगों ने सड़क पर जाम लगा कर ये नारेबाजी की। पुलिस अधीक्षक देहात के अनुसार, घटना के संबंध में सरधना पुलिस ने गुरुवार को समिति के तहसील अध्यक्ष अमित गौतम और महासचिव गौरव पार्चा और एमआईएम के नगर अध्यक्ष वलीउर्रहमान और छह अज्ञात लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने व जाम लगाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जल्दी ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। पुलिस अधीक्षक देहात के अनुसार घटना की फुटेज भी पुलिस को मिल गई है। उन्होंने बताया कि फिलहाल इलाके में किसी भी प्रकार का कोई तनाव नही है। फिर भी एहतियात के तौर पर इलाके में पुलिस चौकसी बढ़ा कर असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top