Breaking News
Home > Archived > पुलिस संरक्षण के कारण गौकशी धंधे को लगे पंख

पुलिस संरक्षण के कारण गौकशी धंधे को लगे पंख

 Special News Coverage |  14 April 2016 2:41 AM GMT

XXX29

सहारनपुर दिनेश मोर्य

थाना कुतुबशेर क्षेत्र में पुलिस के संरक्षण में गौकशी का धंधा व्यापक पैमाने पर फल-फूल रहा है। गौकशी का धंधा चलवाने में पुलिस की भी चांदी कट रही है।

थाना कुतुबशेर क्षेत्र के मौहल्ला ढोली खाल, कमेला कालोनी, एकता कालोनी, नदीम कालोनी ऐसे क्षेत्र है जहां गौतस्कर माफियों ने अपनी जड़े गहरे तक जमाई हुई है। हैरतगेंज बात तो यह है कि उक्त क्षेत्रों में गौकशी का धंधा पुलिस संरक्षण में ही व्यापक पैमाने पर पांव पसारे हुए है। एकता कालोनी तो गौकशी के लिए पिछले लम्बे समय से खासी चर्चाओं में रही है और उक्त क्षेत्र में गौतस्कर खुल प्लाटों में गौकशी करते रहे हैं।



हो चुके हैं तीन मर्डर
कई वर्ष पहले गौतस्करी को लेकर ही थाना कुतुबशेर क्षेत्र की कमेला कालोनी में दो गौतस्कर माफियाओं के गुट आमने-सामने आ गये थे और मामला बढ़ने पर दो सगे भाइयों समेत तीन लोगों को धारदार हथियारों से काटकर निर्मम तरीके से मौत के घाट उतार दिया गया था। उक्त वारदात के बाद महानगर क्षेत्र में भी लम्बे समय तक भय व दहशत का माहौल बना रहा था।


पुलिस कर रही तोड-बट्टा
मजेदार बात यह है कि उक्त क्षेत्र में जब भी पुलिस गौतस्करों को पकड़ने पहुंचती है तो गौतस्कर फरार बताये जाते है, जबकि पुलिस द्वारा मौके से गौतस्करी करते हुए गौतस्करों को रंगे हाथ दबोचा जाता है, लेकिन बाद में थाना कुतुबशेर पुलिस गौतस्कर माफियाओं से तोड़ बट्टा कर रंगे हाथ दबोचे गये गौकशी करने वालों को छोड देती है। गत दिवस भी थाना कुतुबशेर पुलिस द्वारा एकता कालोनी में छापा मारकर गौकशी करते हुए दो लोगों को दबोचा था, लेकिन थाना कुतुबशेर में तैनात एक सब इंस्पेक्टर ने लाखों रुपये का तोड बट्टा कर मौके से रंगे हाथ गौकशी करते हुए दबोचे गये दोनों गौतस्करों को छोड दिया गया। अब पुलिस मामले में लीपा पोती करने के लिए हाथ पैर मार रही है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top