Home > Archived > दिल्ली को भूल फिर यूपी के सपने देख रहे बसपाई

दिल्ली को भूल फिर यूपी के सपने देख रहे बसपाई

 Special News Coverage |  3 Feb 2016 1:53 AM GMT

bsp-2
सहारनपुर (दिनेश मोर्य)
यूपी हुई हमारी है अब दिल्ली की बारी है, का नारा देने वाले बसपाई अब दिल्ली को भूलकर पांचवी बार फिर से सुश्री मायावती को उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनाने के लिए संगठन को मजबूत बनाने में लग गये है। बसपा सुप्रीमों मायावती को पांचवी बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प आज यहां पार्टी के मण्डलीय कार्यालय पर बसपाईयों की आयोजित बैठक में लिया गया।

मंडल कोर्डिनेटर लोधी कुमार एवं जिलाध्यक्ष जनेश्वर प्रसाद ने बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं को सैक्टर स्तर पर संगठन को मजबूत करने का पाठ पठाया परन्तु विदित है कि नगर अध्यक्ष से मंडल कोर्डिनेटर के पद पर पहुंचे लोधी कुमार के कार्यकाल में महानगर में विधान सभा का एक भी चुनाव बसपा प्रत्याशी नहीं जीत पाया है। इतना ही नहीं मंडल कोर्डिनेटर लोधी कुमार के नगर अध्यक्ष कार्यकाल में नगर पालिका के चुनाव में भी अपेक्षित संख्या में सभासद जीताकर नहीं भेज सके।



जनेश्वर प्रसाद बसपा के लिए कमजोर जिलाध्यक्ष
उधर मौजूदा जिलाध्यक्ष जनेश्वर प्रसाद को लेकर भी कार्यकर्ताओं में बसपा के सबसे कमजोर जिलाध्यक्ष के रुप में देखा जा रहा है। बैठक के दौरान उक्त पदाधिकारियों के अलावा सभी वक्ताओं ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मौजूदा समय में ब्राहमण, मुस्लिम, दलित, सैनी समेत अन्य समाज का पूर्ण समर्थन बसपा को मिल रहा है। यहां सवाल यह उठता है कि बसपा ने अपने दलित बेस वोट की गिनती अब तीसरे नम्बर पर करनी शुरु कर दी है, क्योंकि सियासी गलियारों में चर्चा है कि दलित वोट जिले के बसपा पदाधिकारियों की कार्य प्रणाली से असन्तुष्ट होकर भाजपा एवं सपा में छिटक रहा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top