Top
Home > Archived > ममता या विश्वास ! क्या वाकई 72 घंटो में जिन्दा होगा मासूम

ममता या विश्वास ! क्या वाकई 72 घंटो में जिन्दा होगा मासूम

 Special News Coverage |  8 Oct 2015 9:37 AM GMT

meerut boy 72 hrs


मेरठ (व्यूरो) : मेरठ के थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र के शिव शक्ति नगर इलाके में एक हैरानी भरी तस्वीर देखने को मिली है एक छह वर्षीय बच्चे की बुखार से मौत हो गयी और जब उसे दफनाने के लिए लोग शव को लेकर शमसान पहुंचे और बकायदा गड्ढा खोद दफनाने की तैयारी कर रहे थे तभी एक शख्स ने खुद पर देवी की कृपा बताते हुए बच्चे को 72 घंटो में ठीक करने का दावा कर दिया।

बस फिर क्या परिजन बच्चे के शव को घर वापिस ले आये और अब घर में अखंड ज्योत जला शव के इर्दगिर्द कीर्तन चल रहा है। लगभग चालीस घंटो से अधिक समय हो चूका है अब देखना है की क्या ये मासूम वास्तव में ज़िंदा होगा।




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">



meerut boy

क्या है पूरा मामला
दरअसल मेरठ के थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र के शिव शक्ति नगर इलाके में रहने वाले एक व्यवसाई कपिल का छह वर्षीय बेटा हर्षित बुखार से पीड़ित था। बीते मंगलवार हर्षित की तबियत बिगड़ने लगी और जब तक उसे अस्पताल लेकर पहुंचे तब तक वो दम तोड़ चुका था। जिसके बाद हर्षित के शव को दफनाने के लिए परिजन बच्चा शमसान पहुंचे थे, लेकिन वहां पर क्षेत्र के ही रहने वाले एक शक्श संजय ने दावा की मृतक हर्षित की उम्र तो 52 साल है। उसने कहा की 72 घंटो में बच्चा ज़िंदा हो सकता है। बस इसके बाद अब बच्चे का शव घर पर ला कर उसके इर्द गिर्द भजन कीर्तन किया जा रहा है और उसके ज़िंदा होने की राह देखि जा रही है।


लोगों की माने बच्चे का शव अभी भी गर्म है और इतनी देर होने के बाद भी शव से कोई बदबू नहीं आई है ऐसे में उन्हें भी मासूम के ज़िंदा होने की आस दिख रही है। वहीं परिवार के लोग मिडिया को इस मामले से दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">

Next Story
Share it