Top
Home > Archived > देखें वीडियो: 20 सेकेंड में हैक हो सकता है एंड्रॉयड फोन, करोड़ों यूजर्स खतरे में

देखें वीडियो: 20 सेकेंड में हैक हो सकता है एंड्रॉयड फोन, करोड़ों यूजर्स खतरे में

 Special News Coverage |  21 March 2016 10:49 AM GMT

20 सेकेंड में हैक हो सकता है एंड्रॉयड फोन, करोड़ों यूजर्स खतरे में

नई दिल्ली: एक बार फिर से करोड़ो एंड्रॉयड यूजर्स पर उनके स्मार्टफोन हैकिंग का खतरा मंडरा रहा है। कोई सा भी Android स्मार्टफोन हो, उसें Hack करने में महज 20 सेकेंड का समय लगता है। यह काम स्टेजफ्राइट सिक्योरिटी लो मेलवयेर इतने कम समय में बखूबी कर सकता है। एक साइबर सिक्योरिटी एजेंसी ने यह खुलासा किया है कि एंड्रॉयड में एक ऐसी खामी हैं जिसका फायदा उठा कर हैकर्स महज 20 सेकेंड में एंड्रॉयड स्मार्टफोन हैक कर सकते हैं।


इस बात को सभी जानते है कि स्टेजफ्राईट सिक्योरिटी फ्लो मालवेयर से एंड्रॉयड डिवाइस को नुकसान पहुंचा रहा है। रिसर्चरों द्वारा एक जारी वीडियो में बताया गया है कि वायरलेस केबल से सिर्फ 20 सैकेंड में ही आपका फोन हैक किया जा सकता है। इसमें एक 4 वीडियो साईट बताई गई है जो खास इस मालवेयर के लिए ही डिजाइन की गई है। इसे डाउनलोड करने के बाद आपके फोन के मिडिया सर्वर पर यह अटैक करता है और इस के बाद एडीशनल सिक्योरिटी डाटा कलेक्ट करने के लिए एक ओर वीडियो डाउनलोड किया जाता है।

देखें वीडियो:- क्लिक करें - एंड्रॉयड डिवाइस हो सकता है 20 सैकेंड में हैक

हालांकि सुनने में तो यह बहुत लंबी प्रोसीजर लगती है, लेकिन आपको यह जान कर हैरानी होगी कि यह सब सिर्फ 20 सेकेंड में हो जाता है। इस ट्रिक को गूगल नेक्सस5, स्टाक फ्रेमवेयर और कस्टमाइज एंड्रॉयड वेरियंट जैसे एचटीसी वनवन, एलजी जी3 और सैमसंग गैलेक्सी एस5 पर टैस्ट किया गया है। हालांकि यदि आप एंड्रॉयड 6.0 मार्शमैलो यूज कर रहे हैं तो यह मेलवयेर आपके फोन पर अटैक नहीं कर सकता। लेकिन यदि लॉलीपॉप या इस से पुराना एंड्रॉयड ओएस यूज कर रहे हैं तो आपका स्मार्टफोन खतरे मे हैं।

इसके द्वारा किए जाने वाले अटैक से एंड्रॉयड वर्जन 2.2, 4.0, 5.0 और 5.1 प्रभावित होंगे। बता दें कि दुनिया भर के सबसे ज्यादातर एंड्रॉयड में 2.0 और 5.0 वर्जन हैं। कंपनी का दावा कि यह अटैक गूगल नेक्सस 5, HTC One, Lg G3 और Galaxy S5 पर ज्यादा हो सकता है।

इस रिपोर्ट के बाद गूगल ने एक स्टेटमेंट में कहा है कि 1 अक्टूबर 2015 को एक सिक्योरिटी अपडेट दिया गया था जिन डिवाइस में वो अपडेट इंस्टॉल्ड है, उन्हें इससे प्रॉब्लम नहीं होगी। गूगल ने आधिकारिक स्टेटमेंट में कहा, ' उन सभी एंड्रॉयड डिवाइस जिनमें 1 अक्टूबर 2015 का पैच मौजूद है, वो सुरक्षित हैं। हम सिक्योरिटी कम्यूनिटी की सराहना करते हैं जो एंड्रॉयड को सिक्योर करने के लिए ऐसी खामियां ढूढते हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it