Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > बहराइच > अवैध संबंधों से नाराज भाई ने ही काट डाला था छोटी बहन का सिर

अवैध संबंधों से नाराज भाई ने ही काट डाला था छोटी बहन का सिर

पुलिस ने मृतक बहन के भाई के इकबालिया बयान पर उसे जेल भेज दिया.

 Special Coverage News |  2 Sep 2019 4:48 PM GMT  |  बहराइच

अवैध संबंधों से नाराज भाई ने ही काट डाला था छोटी बहन का सिर

अखिलेश कुमार

उसे उम्मीद नहीं थी कि उसका अंधा प्यार उसकी मौत का कारण बन सकता है. उसने सपने में भी नहीं सोचा था कि उसके खून का प्यासा उसका अपना ही कोई होगा. लेकिन हुआ भी बिल्कुल वैसा. एक लड़की को ऐसी मौत मिली, जिसको सुनकर रूह कांप जाए. एक बहन (Sister) की गला काटकर उसके ही भाई (Brother) ने इसलिए मार डाला क्योंकि उसकी मोहब्बत उसे नागंवार थी. उसे ये बिल्कुल भी मंजूर नहीं था कि उसकी बहन एक ऐसे आदमी के प्यार में पागल हो, जो पहले से शादी शुदा था. बहराइच (Bahraich) में सोमवार को इस ऑनर किलिंग (Honour Killing) मामले का पुलिस अधीक्षक ने खुलासा कर बीते ढाई माह पूर्व एक निर्माणाधीन घर से मिली सिर कटी लाश से पर्दा उठा दिया. पुलिस ने मृतक बहन के भाई के इकबालिया बयान पर उसे जेल भेज दिया.

दरअसल मुजफ्फरपुर जिले के रामलीला टोला की 18 वर्षीय रूबी अपने जीजा के शादी शुदा छोटे भाई के प्यार पड़कर अपनी जान गंवा बैठी. बीती 18 जून को उसके इकलौते भाई जमशेद ने उसके अवैध संबंधों का पता चलने पर उसकी गला काट कर सिर धड़ से अलग कर दिया और पहचान छिपाने के लिए सिर और धड़ को दो अलग जगहों पर फेंक दिया. कोई शव की पहचान न कर सके इसलिए कटे सिर पर पेट्रोल डालकर जला दिया. दूसरे जनपद की युवती की सिर कटी लाश पुलिस ने रुपईडीहा थाना क्षेत्र के बाबागंज इलाके से बरामद की थी. लेकिन उस बेहद अंधे मामले में युवती की शिनाख्त नहीं हो सकी थी.

पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर के मुताबिक, आरोपी जमशेद मुजफ्फरनगर जिले का निवासी है. इसकी तीन बहनों में मृतका रूबी सबसे छोटी बहन थी. जिसका उसके बड़े बहनोई के शादीशुदा छोटे भाई से प्रेम के चलते अवैध संबंध स्थापित हो गए थे. जिसको लेकर जमशेद बेहद तनाव में रहता था. चूंकि जमशेद के बड़े बहनोई बहराइच के रुपईडीहा इलाके में फेरी का काम करते थे, जिसमें उनका भाई हासिम भी सहयोगी था. जमशेद के काफी प्रयास के बाद भी रूबी और हासिम के बीच संबंध बंद नहीं हुए. हासिम ने रूबी के नाम के अक्षर आर को लिखकर जमशेद को चिढ़ाना शुरू कर दिया तो जमशेद ने अपनी ही बहन को मार डालने का मन बना लिया.

गौरव ग्रोवर के बताया कि इसी के तहत वो अपनी बहन को लेकर मुजफ्फरनगर से बहराइच आया और वह भी अपने बहनोई की ही तरह फेरी का काम करने लगा. इसके लिए जमशेद ने अपनी छोटी बहन रूबी के साथ नानपारा में किराए का कमरा लिया और बतौर किराएदार रहने लगा. लेकिन वहां वो अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सका. इसलिए घटना के पहले उसने कमरा बदल दिया और 19 जून 2019 की रात में उसने अपनी बहन की हत्या कर दी. फिर पहचान छिपाने के लिए उसका सिर धड़ से अलग दूसरे स्थान पर फेंककर उसके चेहरे को पेट्रोल डालकर जला दिया. जबकि धड़ उसने भारत नेपाल सीमा के निकट बाबागंज इलाके में एक निर्माणाधीन मकान में फेंक दिया. चूंकि युवती की सिर कटी लाश थी व महिला भी गैर जनपद की निवासी थी, तो इसका पता लगाना पुलिस के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण था. पुलिस की सक्रियता व सर्विलांस सेल के सहयोग से जिले की रुपईडीहा पुलिस ने मामले के आरोपी व मृतका के भाई जमशेद को पकड़ लिया. जिसके बाद इस घटना का खुलासा हो गया.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top