Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > बहराइच > राम मन्दिर की पैरोकारी करते कब ये मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए - डॉ प्रवीन तोगड़िया

राम मन्दिर की पैरोकारी करते कब ये मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए - डॉ प्रवीन तोगड़िया

राम मन्दिर की पैरोकारी करेंगे किन्तु प्रचण्ड बहुमत मिलते ही ये मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए

 Special Coverage News |  2018-08-28 09:50:48.0  |  बहराइच

राम मन्दिर की पैरोकारी करते कब ये मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए - डॉ प्रवीन तोगड़िया

बहराइच। जनपद के सुप्रसिद्ध पांडवकालीन श्री सिद्धनाथ पीठ में दर्शन कर पूजन अर्चन करने पहुँचे अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगड़िया ने केंद्र सरकार पर राम मंदिर को लेकर सवाल उठाते हुये कहा कि सौ करोड़ हिन्दुओं ने भाजपा को पूर्ण बहुमत दिया था कि ये राम मन्दिर की पैरोकारी करेंगे किन्तु प्रचण्ड बहुमत मिलते ही ये मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए। राम मंदिर के नाम पर सत्ता हासिल करने वाले लोग सौ करोड़ हिन्दुओं द्वारा पूर्ण बहुमत दिए जाने के बाद अब संसद में बैठकर ट्रिपल तलाक पर कानून बना रहे हैं । यहां उन्होंने भगवान शिव के पूजन के बाद सिद्धनाथ पीठाधीश्वर वरिष्ठ महामंडलेश्वर 1008 स्वामी रवि गिरि जी महाराज से आशीर्वाद प्राप्त कर गहन मंत्रणा भी की।


वहीं पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मंदिर 67 एकड़ में बने,अयोध्या में कोई नई मस्जिद न बने एवं बाबर के नाम पर पूरे भारत मे कुछ भी न बने यह करवाने की अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद व राष्ट्रीय बजरंग दल पूरे जोर शोर से तैयारी कर रहा है । तोगड़िया ने जहां सरकार पर राम मंदिर को लेकर सिर्फ कोरी राजनीति करने की बात कही,वहीं उन्होंने यह भी कहा कि सरकार चाहे जिस भी दल की हो पिछले 32 वर्षों से वे सिर्फ हिंदुत्व का कार्य कर रहे हैं और राम मंदिर के लिये कायदा बनाने की मांग करते रहे हैं । कहा कि गौ हत्या,कश्मीर में हिन्दुओं को पुनर्स्थापित किया जाना,32 करोड़ बांग्लादेशियों को भारत से भगाना,किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना अधिक मूल्य दिलाना तथा हिन्दू नौजवानों को नौकरी दिलाने की वे मांग करते रहे हैं और रहेंगे। अहिप अध्यक्ष ने केन्द्र सरकार से सवाल करते हुए कहा कि वचन दिया था कि पूर्ण बहुमत के बाद राम मंदिर पर कानून बनेगा,साढ़े चार वर्ष बीतने के बाद भी अभी तक कानून क्यों नही बनाया गया?


प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि 2014 के आम चुनाव में 100 करोड़ हिन्दुओं ने पूर्ण बहुमत दिया था कि राम मंदिर की वकालत करेंगे लेकिन प्रचण्ड बहुमत मिलने के बाद आप मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए। एक पत्रकार के सवाल पर जहां उन्होंने उसे हिन्दुओं की जबान पर ताला लगाने वाले औरंगजेब की संज्ञा दी वहीं जनता की आवाज प्रतिनिधि के विहिप छोड़ने या निकाले जाने के सवाल पर कहा कि विहिप छोड़ने के लिये उन्हें मजबूर किया गया क्योंकि मैं सोच रहा था संसद में कानून बनेगा लेकिन उन्हें संसद में कानून बनाना नही था। अन्त में उन्होंने कहा कि मैं हिन्दुओं का आवाहन करता हूं कि आप लोकतांत्रिक अयोध्या आन्दोलन की तैयारी करो जनता का दबाव बनवाकर मन्दिर बनाएंगे। कहा कि हिन्दुओं की आवाज उठाने के लिए उन्होंने विधायक सांसद या अन्य किसी पद की मांग नही की हम तो सिर्फ राम मंदिर मांग करते रहे।


तोगड़िया ने कहा कि जब आडवाणी ने सोमनाथ मन्दिर के लिये रथ यात्रा निकाली थी तब भी केस कोर्ट में था, जब मुलायम सिंह ने कार सेवकों पर गोलियां चलवाईं तब भी केस कोर्ट में था अगर कोर्ट से ही मन्दिर बनना था तो आडवाणी को रथ यात्रा निकालने की आवश्यकता क्यों पड़ी। बड़ा सवाल करते हुए कहा कि शाहबानो केस में सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दिया तब भी संसद ने कायदा बनाया तो राम मन्दिर के लिए ही कानून क्यों नही बन सकता ?

आनन्द प्रकाश गुप्ता की कलम से

http://www.jantakiawaz.org/category/state/utterpradesh/news-600452

Tags:    
Share it
Top