Top
Begin typing your search...

अयोध्या की बड़ी उपलब्धि, मॉरीशस में राम की लीलाओं का करेगे मंचन

अयोध्या की बड़ी उपलब्धि, मॉरीशस में राम की लीलाओं का करेगे मंचन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रघुकुल की मर्यादा को राम ने बचा के रखा।

लखनऊ। कही राम नाम पर सियासत हो रही है तो कही राम का नाम का लेने मात्र से जीवन के कष्ट दूर हो जाते है। लेकिन जब कोई कही राम के लीलाओं को देखता है तो वो अपने जीवन को समझ नही पाता है कि जीवन की सच्चाई क्या है। और राम के लीलाओं को जब भी कोई देखता है तो वो उसमें मंत्र मुग्ध हो जाता है। लोग सोचने पर विवश हो जाते है कि राम भगवान को जीवन में कितने कष्ट सहते हुए भी कभी अपने मार्ग से विचलीत नही हुए। और रघुकुल की मर्यादा को उसने बचा के रखा।

आपको बतादे कि अयोध्या शोध संस्थान की ओर से आगामी 20 से 30 अगस्त के बीच मॉरीशस में अयोध्या की रामलीला का मंचन किया जायेगा। अयोध्या का रामलीला दल पहली बार मॉरीशस में राम की लीलाओं का मंचन करते नजर आयेगा। खास बात ये है कि जो भी कलाकार होगा वो मूल रूप से अयोध्या के हैं। यहां की शैली में ही प्रभु राम के विविध प्रसंगों का मंचन भी करेंगे। समझा जा रहा है कि कलाकारों की ये यात्रा मॉरीशसवासियों को रामनगरी से जोड़ने में सहायक बनेंगे।

रामलीला के कलाकार वहां रामजन्म, राम विवाह, धनुष यज्ञ, राज्याभिषेक, वनगमन, सीता हरण व रावण बध के प्रसंगों का मंचन कर रामनगरी के वैशिष्टको परिचित कराएंगे। भगवान राम व सीता के सात फेरे का मंचन भी करेंगे। मंचन के साथ ही मारीशस के संस्कृतिकर्मियों और कलाकारों को अयोध्या की रामलीला की बारीकियों और शैली का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में इस दिशा में बड़ी तेजी से कार्य हुये हैं। वही नरेन्द्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली विदेश यात्रा मॉरिशस की है।

Next Story
Share it