Breaking News
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > फतेहपुर > कोटेदार द्वारा कम राशन देने का कार्डधारकों ने किया विरोध , जिम्मेदारों से मिला सिर्फ आश्वासन

कोटेदार द्वारा कम राशन देने का कार्डधारकों ने किया विरोध , जिम्मेदारों से मिला सिर्फ आश्वासन

 Special Coverage News |  2018-10-09 11:36:43.0  |  फतेहपुर

कोटेदार द्वारा कम राशन देने का कार्डधारकों ने किया विरोध , जिम्मेदारों से मिला सिर्फ आश्वासन

धीरेन्द्र सिंह"राणा"/फतेहपुर

एक तरफ योगी सरकार सरकारी सस्ते राशन की दुकानों पर हो रहे भ्रष्टाचार को खत्म करने का दावा कर रही है। पर अक्सर प्रदेश में कोटेदारों की धांधली और दबंगई के किस्से सुनने/पढने को मिलते रहे हैं। अभी हाल ही में जनपद फतेहपुर में कोटेदार द्वारा राशन समय से नही देने और पूरा न देने का आरोप लगा है। ये कोई नई समस्या नहीं है। कॉर्ड धारकों को अक्सर ज़मीनी तौर पर अभी भी इन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।


जनपद के मशवानी मुहल्ले के राशनकार्ड धारकों ने अपनी समस्या जिम्मेदार अधिकारियों के सामने रखी। कार्ड धारकों का कहना है कि उन्हें समय से राशन नही मिल रहा है, और कोटेदार उन्हें गल्ला कम भी दे रहा है जब कोटेदार से इस संबंध में कहा जाता है तो वह उन्हें खरीखोटी सुनाता है और गाली गलौज करता है। इस बात की शिकायत करने पर उन्हें कर्मचारियों द्वारा इधर से उधर दौड़ाया जाता है और इन दिनों कोटेदारो ने नया खेल शुरू कर दिया है। कार्ड धारको को खाद्यान कम देने का मामला अक्सर सुनने पढ़ने में आता है।


ताजा मामला जनपद के मशवानी मुहल्ले के मधु गुप्ता कोटेदार द्वारा प्रत्येक कार्ड धारको को दो से तीन किलो की घटतौली की जा रही थी। जब कार्डधारकों द्वारा इसका विरोध किया गया तो उनके साथ कोटेदार ने गाली गलौज की और उसके पुत्र ने मारपीट की। मारपीट की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस जाँच में जुट गई, वहीँ कार्ड धारको की माने तो कोटेदार द्वारा प्रत्येक कार्ड धारक को दो से तीन किलो की गल्ला कम दिया जा रहा था।जिसका कार्ड धारको ने विरोध किया तो दबंग कोटेदार ने मारपीट व् गाली गलौज शुरू कर दिया। जिसकी शिकायत जिला पूर्ति अधिकारी से की लेकिन किसी ने कोई ध्यान नहीं दिया। वहीँ कोटेदार ने बताया की जो भी आरोप लगाए जा रहे है। वह पूर्णतः निराधार है।


वही इस बारे में पुलिस अधीक्षक से बात की तो उनका कहना था की मारपीट घटतौली को लेकर हुई है, जिसकी जाँच जिला पूर्ति अधिकारी करेंगे। अभी किसी की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है। अगर मिलती है। तो जाँच करा कार्यवाही की जाएगी और दोषियों को बक्सा नहीं जाएगा।

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top