Top
Begin typing your search...

चाचा की चाबी भतीजे की सपा की किस्मत का ताला बंद कर सकती है!

चाचा की चाबी भतीजे की सपा की किस्मत का ताला बंद कर सकती है!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाकी सब साइकिल पर हैं चुनाव तक सब एक हो जाएंगे. हालांकि दुकानदार अरशद कहते हैं शिवपाल ही और जीतेंगे भी इसलिए पूरे जिले का मुसलमान शिवपाल यादव के साथ हैं.

फिरोजाबाद: चाय की दुकान पर बैठे उमेश कुमार इस बात से चिंतित हैं कि चाचा ने चुनाव बहुत कर्रा कर दिया है. लेकिन उनके साथ ही बैठे समाजवादी पार्टी के जवाहर यादव कहते हैं कि कौनिव चिंता की बात नहीं यादव कछु कट रहे हैं. बाकी सब एकजुट है. सवाल बस यही है. क्या चाचा शिवपाल की चाबी भतीजे अखिलेश की समाजवादी पार्टी की किस्मत का ताला बंद भी कर सकती है. बहुत से लोग इस बात से सहमत नहीं है. शिकोहाबाद के विमल यादव कहते हैं. कछु परेशानी जरूर हो रही है. लेकिन अंत में चुनाव अक्षय भैया जीत जाएंगे. वह कहते हैं कि शिवपाल ये मान रहे हैं कि रामगोपाल के कारण ही उन्हें बेइज्जत होना पढ़ो. यही कारण वह अपने भतीजे पर हमला करने फ़िरोज़ाबाद आ गए. विमल के एक साथी राम बिहारी कहते हैं कि या में केवल शिवपाल दोष नहीं है. ये रामगोपाल को भी देखना था कि शिवपाल के साथ क्या गलत हो रहे हो है. वास्तव में फिरोजाबाद लोकसभा सीट चाचा भतीजे की लड़ाई का मैदान बन गई है हर जगह एक ही चर्चा है चाचा जीतेंगे या भतीजा समाजवादी खेमे में इस बात को लेकर भी चिंता है कई चाचा भतीजे आपस में ही लड़ते रहे और बाजी भाजपा मार ले जाए.

इस चुनावी लड़ाई मे तमाम रिश्ते नाते बिखर गए हैं. मुलायम सिंह यादव के परिवार के ही सिरसागंज क्षेत्र के सपा विधायक हरिओम यादव और उनके बेटे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विजय प्रताप यादव रामगोपाल यादव पर तीखे हमले कर रहे हैं. हरिओम के प्रभाव का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यूपी विधानसभा चुनाव में मोदी लहर होने के बावजूद वह अपनी सीट बचा ले गये थे. कभी फिरोजाबाद में समाजवादी पार्टी का चेहरा रहे अजीम भाई खुद शिवपाल यादव के साथ हैं. जसराना और सिरसागंज में शिवपाल सिंह यादव बेहतर लड़ाई लड़ रहे हैं फिरोजाबाद में शिवपाल सिंह यादव की ससुराल है. लड़ाई में शिवपाल को पीड़ित के रूप में पेश किया जा रहा है. रामगोपाल यादव हर संभव प्रयास कर रहे हैं यह बदलने न पाए.

सपा के नेता इस बात को भलीभांति जानते हैं. शिवपाल यादव उन्हें बड़ा नुकसान पहुंचा रहे हैं. अक्षय यादव अपने चाचा शिवपाल यादव पर तीखा हमला तो नहीं करते हैं लेकिन कहते हैं कि या भाजपा की बी टीम भी लड़ रही है. साफ है उनका यह हमला शिवपाल की तरफ है. उधर शिवपाल इस बात पर मौन साधे हुए हैं जीते तो यूपीए के सदस्य होंगे या एनडीए के पाला में खड़े होंगे पूरे क्षेत्र में जोरदार चर्चा है के कुछ भाजपाई शिवपाल की पूरी पूरी मदद कर रहे हैं. जबकि भाजपा प्रत्याशी डॉक्टर चंद्र सिंह जादौन कहते हैं इन दोनों यादवों की लड़ाई में बीजेपी चुनाव जीतने जा रही है. अफवाह विरोधियों का काम है. सिरसागंज क्षेत्र में शिवपाल यादव कहीं ज्यादा बेहतर लड़ रहे हैं यहां समाजवादी पार्टी की हालत खराब है.

हजरत पुर गांव में लोगों की पंचायत लगी थी. चर्चा बस यही थी कि चुनाव में क्या होगा? गांव के ही कप्तान सिंह बताते हैं कि बसपा का वोट तो अक्षय को जा रहा है. पर सपा का वोट अक्षय को नहीं जा रहा है. अब ऐसे में यादव बच्चे तो मैं क्या करूं? इस गांव के लोग बताते हैं. दलित समुदाय में अक्षय को बहुत बढ़िया समर्थन मिल रहा है. इससे उनको होने वाले नुकसान की भरपाई हो जाएगी लेकिन नुकसान को ज्यादा हुआ तो चुनाव और पेचीदा हो सकता है.


फिरोजाबाद के रूपसपुर के अजय कुमार कहते हैं उनके यहां कुछ यादव भी मोदी के नाम पर कमल को जा रहे हैं. वही नगला भवानी के तिलक सिंह लोधी ने बताया उनका पूरा गांव मोदी के साथ है. तो शिवपाल को वोट देंगे और अक्षय को सपा की बेचैनी का विषय मुस्लिम मतदाता है. जिस में दरार दिख रही है. सपा नेता मुसलमानों को समझा रहे हैं कि शिवपाल की चाबी के चक्कर में न पड़े तो बीजेपी जीतेगी. मोहम्मद नदीम बताते हैं कुछ मुस्लिम मतदाता चाबी के साथ हैं. बाकी सब साइकिल पर हैं चुनाव तक सब एक हो जाएंगे. हालांकि दुकानदार अरशद कहते हैं शिवपाल ही और जीतेंगे भी इसलिए पूरे जिले का मुसलमान शिवपाल यादव के साथ हैं.

एक नजर वोटो पर

कुल वोट 17,40562

पुरुष मतदाता 950486

महिला मतदाता 789989

थर्ड जेंडर 87

प्रमुख उम्मीदवार

अक्षय यादव समाजवादी पार्टी

शिवपाल यादव प्रसपा

चंद्रसेन जादौन भाजपा

Next Story
Share it