Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद में पत्नी और तीन बच्चों की हत्या के बाद युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में बताई ये वजह...

तीनों बच्चों की उम्र 8, 5 और 3 साल है..पत्नी की अस्पताल में मौत हो गयी?

गाजियाबाद में पत्नी और तीन बच्चों की हत्या के बाद युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में बताई ये वजह...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
गाजियाबाद : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी पत्नी व बच्चों की हत्या कर पति द्वारा आत्महत्या कर लेने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मसूरी थाना क्षेत्र के न्यू शताब्दीपुरम में शुक्रवार तड़के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी व तीन बच्चों की हत्या कर आत्महत्या कर ली। पत्नी के सिर में हथौड़ा मारकर हत्या की तो तीनों बच्चों को जहर देकर मारा फिर खुद भी जहर खाकर जान दे दी। पति का नाम प्रदीप है, जबकि उसकी पत्नी एम्स में स्टाफ नर्स है। तीनों बच्चों की उम्र 8, 5 और 3 साल है. पति को शराब की लत थी। आत्महत्या करने का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। सुसाइड नोट की जांच की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक, सुबह 5:40 के आस पास इस घटना की सूचना मिली कि एक शख्स ने सुसाइड कर लिया है। पुलिस टीम मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़ा तो घर के अंदर 3 छोटी छोटी बच्चियों की लाश मिली जिनकी उम्र 3 साल, 5 साल और 8 साल है, जबकि एक महिला थी जिसके सर पर वार किया गया था। पता चला कि एक 42 साल का शख्स प्रदीप है जिसने मुंह पर टेप बांध कर अपनी बच्चियों की हत्या की, अपनी पत्नी को हथौड़े से मारा और खुद सुसाइड किया।

सुसाइड नोट मिला

गाजियाबाद के एसएसपी ने कहा कि मौके से सुसाइड नोट मिला है जिसकी जांच की जा रही है। सुसाइड नोट में शक की बात की गई है. पड़ोसियों ने बताया कि प्रदीप शराब भी पीता था जिसको लेकर झगड़ा होता था। कुछ दिन पहले प्रदीप ने प्राइवेट जॉब शुरू किया था। पत्नी नशा मुक्ति केंद्र में जॉब करती थी।



प्राप्त जानकारी के अनुसार 42 वर्षीय प्रदीप नाम का शख्स अपने माता-पिता, बहन, पत्नी और तीन बच्चों के साथ थाना मसूरी इलाके की न्यू शताब्दीपुरम कॉलोनी में पिछले काफी समय से रह रहा था. प्रदीप और उनकी पत्नी और तीनों बच्चे अपने कमरे में सोए हुए थे. शुक्रवार की सुबह जब उनके कमरे का दरवाजा नहीं खुला और कोई हलचल नहीं दिखाई दी तो घर में मौजूद अन्य लोगों ने उनका दरवाजा खटखटाया लेकिन उन्हें अंदर से कोई जवाब नहीं मिला.

घर वालों को शक हुआ और उन्होंने खिड़की से अंदर देखा तो बिस्तर पर प्रदीप और उसके तीनों बच्चों के शव पड़े दिखे. प्रदीप और चारों बच्चों के मुंह पर करीब 4 इंच चौड़ा काले रंग का टेप बुरी तरह लिपटा हुआ था जबकि 40 वर्षीय पत्नी संगीता बिस्तर से नीचे लहूलुहान हालत में पड़ी हुई थी. उसके सिर में गंभीर चोट थी और वह तड़प रही थी. पास में ही खून से सना एक हथौड़ा पड़ा हुआ था और वह पूरी तरह बेहोशी की हालत में पड़ी हुई थी.

पुलिस ने आनन-फानन में संगीता को अस्पताल पहुंचाया. बाद में उसकी मौत हो गई. इसके अलावा प्रदीप और तीनों बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. शुरुआती जांच में पता चला है कि कमरे में किसी तरह का कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है. फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है और घर में मौजूद अन्य लोगों से पूछताछ की जा रही है.

पहले पत्नी को मारा फिर खुदकुशी की

पुलिस की शुरुआती जांच में ऐसा लगता है कि प्रदीप ने पहले अपनी पत्नी के सर पर हथौड़े से वार किए, उसके बाद तीनों बच्चों के मुंह पर टेप लगाकर उनकी हत्या की है. उसके बाद खुद ने भी अपने मुंह पर टेप लपेट कर आत्महत्या कर ली क्योंकि जिस कमरे में यह पूरा परिवार था उस कमरे का अंदर की तरफ से दरवाजा बंद था. पुलिस ने ही दरवाजे को कड़ी मशक्कत के बाद तोड़ा.

बताया जा रहा है कि प्रदीप निजी कंपनी में जॉब करता था और इस मकान में उसके माता-पिता, एक बहन और उसकी पत्नी और तीन बच्चे रहते थे. माता पिता और बहन घर के दूसरे कमरे में थे. उनका भी कहना है कि उन्होंने किसी तरह की कोई चीख पुकार नहीं सुनी. सुबह जब रोजाना की तरह उनका दरवाजा नहीं खुला तो उन्हें खिड़की से देखा गया. तुरंत इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई और पुलिस ने ही दरवाजा तोड़कर सभी को बाहर निकाला.


Special Coverage News
Next Story
Share it