Top
Begin typing your search...

उत्तराखंड के कांग्रेस पार्षद को गाजियाबाद में छोड़कर फरार हुए बदमाश, 40 लाख की मांगी थी फिरौती

उत्तराखंड के कांग्रेस पार्षद को गाजियाबाद में छोड़कर फरार हुए बदमाश, 40 लाख की मांगी थी फिरौती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद : उत्तराखंड के रुद्रपुर से हाल ही में कांग्रेस पार्षद के अपहरण का मामला सामने आया था. पुलिस ने रविवार को पार्षद अमित मिश्रा को गाजियाबाद से बरामद किया है. अपहरणकर्ता पार्षद को गाजियाबाद में सुनसान जगह पर छोड़कर फरार हो गए थे. बताया जा रहा है कि अपहरण पैसों के लिए ही किया गया था. अपहरणकर्ताओं ने परिजनों से 40 लाख की फिरौती मांगी थी. लेकिन पुलिस की लगातार घेराबंदी के चलते अपहरणकर्ता फिरौती की रकम नहीं ले पाए. इस मामले में उत्तराखंड पुलिस ने गाजियाबाद के एसएसपी कलानिधि नैथानी से मदद मांगी थी.

आरोपी पकड़े जाने के डर से पार्षद अमित मिश्रा को कहीं सुनसान जगह पर छोड़ गए. इसके बाद पार्षद ने कैब ड्राइवर के फोन से अपने दोस्त को उनके गाजियाबाद में होने की सूचना दी. पुलिस पार्षद को अपने साथ ऊधमसिंह नगर लेकर आ गई है. पुलिस का कहना है कि आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की जांच जारी है.

आपको बता दें कि प्रीत विहार रुद्रपुर निवासी अमित मिश्रा वार्ड 21 से कांग्रेसी पार्षद हैं. वे हाल ही में घर में दुकान का किराया वसूलने की बात कहकर निकले थे. लेकिन देर रात तक घर नहीं पहुंचे. उनकी मां का कहना था कि बेटे का देर शाम को फोन आया और उसने मोबाइल स्विच ऑफ था. इसके बाद न तो बेटा घर आया न उसका मोबाइल नंबर मिला. तभी उनके फोन पर एक फोन आया, जिसमें अज्ञात बदमाशों ने पार्षद को जिंदा छोड़ने के एवज में 40 लाख रुपये की फिरौती मांगी.

पार्षद की मां की तहरीर पर पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज किया था. इसके बाद से ही एसओजी की कई टीमें अलग-अलग स्थानों पर दबिश देकर पार्षद की खोज में लगी हुई थीं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it