Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद फर्जी एनकाउंटर में इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिस वालों के खिलाफ दर्ज होगा केस

पुलिस इस मामले को इनकाऊंटर बता रही है जबकि परिजन ने कही कोर्ट में यह बात और दर्ज हुआ केस ,

गाजियाबाद फर्जी एनकाउंटर में इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिस वालों के खिलाफ दर्ज होगा केस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद यूपी पुलिस जहां एनकाउंटर कर आरोपियों की गिरफ्तारी कर रही है। वहीं दूसरी ओर एक फर्जी एनकाउंटर को लेकर फंसती भी नजर आ रही है। इसी संदर्भ में कोर्ट ने इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा चलाने के आदेश दिए है।

विजयनगर पुलिस ने 27 जून को आमिर का एनकाउंटर किया था। उसकी बहन ने एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए कोर्ट में अर्जी देकर पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की गुहार लगाई थी। कोर्ट ने अर्जी को स्वीकार करते हुए विजयनगर इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा चलाए जाने के आदेश दिए हैं। विजयनगर इंस्पेक्टर श्यामवीर सिंह के खिलाफ पूर्व में ट्रॉनिका सिटी थाना क्षेत्र में पुलिस कस्टडी में सरिता त्यागी को जहर देकर मारने का आरोप है। इस मामले में भी कोर्ट ने 22 जनवरी 2019 को इंस्पेक्टर श्यामवीर सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने के आदेश दिए थे।

सरेंडर को अस्वीकार कर पुलिसकर्मियों ने दी थी एनकाउंटर की धमकी :

यासमीन का आरोप है कि पुलिस ने 17 जून को उसके भाई आमिर और 2 अन्य लोगों के खिलाफ जानलेवा हमला करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। इसी मामले में बड़ी बहन चांदनी 26 जून को अपने भाई आमिर को थाने में सरेंडर कराने के लिए ले गई थी। जहां पुलिस ने उसका सरेंडर अस्वीकार करते हुए उसे एनकाउंटर करने की धमकी दी थी। यासमीन के मुताबिक पुलिसकर्मियों से मिली धमकी के बाद उन्होंने डीजीपी, डीआईजी और एसएसपी को शिकायती पत्र दिया था लेकिन किसी ने भी कोई सुनवाई नहीं की।





Special Coverage News
Next Story
Share it