Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद सामूहिक आत्महत्या का खुलासा, साढ़ू की धोखाधड़ी और बिजनेस में दो करोड़ का घाटा बना वजह!

गाजियाबाद सामूहिक आत्महत्या का खुलासा, साढ़ू की धोखाधड़ी और बिजनेस में दो करोड़ का घाटा बना वजह!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद. जिले के इंदिरापुरम में हुई सामुहिक आत्महत्या की दिल दहलाने वाली घटना में अब चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. बताया जा रहा है कि परिवार के मुखिया गुलशन वासुदेव कारोबारी था और उसे बिजनेस में दो करोड़ का नुकसान हुआ था.

उसके भाई हरीश ने आरोप लगाया कि गुलशन के साढ़ू राकेश वर्मा ने उसके साथ धोखाधड़ी की. वहीं मृतकों के अपार्टमेंट की दीवार पर लिखे सुसाइड नोट में भी राकेश वर्मा को उनकी मौत का जिम्मेदार बताया गया है. साथ ही कुछ बाउंस हुए चैक भी पुलिस को बरामद हुए हैं.

बिजनेस में घाटा और कर्ज

एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि दीवार पर लिखे सुसाइड नोट के मुताबिक यह आत्महत्या का मामला है. परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा था. व्यापार में काफी घाटा हुआ था और बैंक से कर्ज भी लिया हुआ था जिसे गुलशन नहीं चुका पा रहा था. फिलहाल मामले की पड़ताल की जा रही है.

पहले गला दबाया फिर चाकू से रेत दिया

गुलशन और उसकी दो पत्नियों ने पहले सो रहे अपने बेटे ऋतिक और बेटी किट्टू का गला रस्सी घोंटा, जब वे निढाल हो गए तो चाकू से दाेनों का गला रेतकर हत्या कर दी. इसके बाद घर में पले खरगोश की भी गला मरोड़कर हत्या कर दी.

जानकारी के अनुसार मृतक परिवार दिल्ली के झिलमिल इलाके का रहने वाला था. गुलशन वासुदेव का जीन्स का बिजनेस था. करीब डेढ़ महीने पहले ही यह परिवार इंदिरापुरम रहने आया था. शुरुआती जांच में पुलिस को घर से बाउंस चेक बरामद हुए हैं. पुलिस के मुताबिक आर्थिंक तंगी से परेशान परिवार घरेलू कलह से भी जूझ रहा था.

Special Coverage News
Next Story
Share it