Top
Breaking News
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > गाजियाबाद > एक लाख का इनाम पाने वाला यूपी पुलिस का थानां प्रभारी कैसे खुद बन गया इनामी?

एक लाख का इनाम पाने वाला यूपी पुलिस का थानां प्रभारी कैसे खुद बन गया इनामी?

 Special Coverage News |  17 Nov 2019 5:52 AM GMT  |  गाजियाबाद

एक लाख का इनाम पाने वाला यूपी पुलिस का थानां प्रभारी कैसे खुद बन गया इनामी?

गाजियाबाद : गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर-एक में रहने वाले इंजीनियर की 17 वर्षीय बेटी को अगवा करने वाले बीकॉम के छात्र काे गिरफ्तार कर तत्कालीन इंदिरापुरम थाना प्रभारी निरीक्षक दीपक शर्मा ने शासन स्तर तक खूब वाहवाही लूटी। अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने उन्हें एक लाख रुपये के इनाम से नवाजा। उसके बाद वसुंधरा में एनकाउंटर कर पूर्व विधायक रूप चौधरी से इनाम पाकर गदगद हुए। बृहस्पतिवार को गाजियाबाद पुलिस ने दीपक शर्मा पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया। इससे चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया।

जुआरियों को बिना कार्रवाई के छोड़ने और उनसे बरामद करीब 12.20 लाख रुपये हड़पने के मामले में आरोपी इंदिरापुरम थाना के पूर्व प्रभारी निरीक्षक दीपक शर्मा, उपनिरीक्षक संदीप कुमार व सचिन 25 - 25 हजार रुपये के इनामी घोषित हुए हैं।

एसएसपी ने किया 25 - 25 हजार रुपये का इनाम घोषित

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह ने तीनों आरोपियो पर इनाम घोषित किया है। वहीं, तीनों आरोपित न्यायालय से अग्रिम जमानत लेने की फिराक में हैं। ग्रांड इन होटल वैशाली में 13 जुआरियों को छोड़ने और उनसे बरामद 12.20 लाख रुपये के गबन के आरोपी दीपक शर्मा, संदीप कुमार व सचिन के खिलाफ इंदिरापुरम थाना में रविवार को सहायक पुलिस अधीक्षक केशव कुमार ने लोक सेवक द्वारा गबन करने और भ्रष्टाचार निवारण अधिनिमय में रिपोर्ट दर्ज कराई। इसकी विवेचना साहिबाबाद पुलिस क्षेत्राधिकारी डॉ. राकेश कुमार मिश्र कर रहे हैं। उन्होंने मामले से जुड़े हाेटल मालिक, प्रबंधक व कर्मचारियों से पूछताछ की। आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए संभावित स्थानों पर दबिश दी, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह ने बृहस्पतिवार देर रात तीनों आरोपितों पर 25 - 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया।

क्या है मामला

इंदिरापुरम थाना के पूर्व प्रभारी निरीक्षक दीपक शर्मा, शिप्रा सनसिटी चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक संदीप कुमार व वैशाली चौकी पर तैनात उपनिरीक्षक सचिन कुमार पर 22 अक्टूबर की रात ग्रांड इन होटल में जुआ खेल रहे 13 जुआरियों को बिना कार्रवाई के छोड़ने और 12.20 लाख रुपये गबन करने का आरोप है। मामले की जांच कर सहायक पुलिस अधीक्षक केशव कुमार ने 10 नवंबर को इंदिरापुरम थाना में आराेपी तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ लोकसेवक द्वारा गबन करने और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जुआ खेलने वाले 13 जुआरियों के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज हुई है। मामले की विवेचना पुलिस क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद डॉ. राकेश कुमार मिश्र कर रहे हैं।

एनकाउंटर की भी खुली थी पोल

17 अक्टूबर को वैशाली सेक्टर तीन से एक फ्लैट में चोरी करने के दौरान लोगों द्वारा पकड़े गए दो आरोपियो में से एक आरोपी आकाश को तीन दिन बाद मुठभेड़ में गिरफ्तार करने के मामले में भी इंदिरापुरम पुलिस की पोल खुली थी। मामले में आरोपी बनाये गए बदमाश आकाश की मां परवीन ने मामले में न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की बात की है। उसके बाद 22 नवंबर को पांच उल्लुओं को पकड़े के मामले में भी एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें घर में मिले पांच उल्लुओं के तस्करी में दो युवकों को जेल भेजने का मामला भी इंदिरापुरम पुलिस को कटघरे में खड़ा किया था। दोनों प्रकरण काफी चर्चा में रहे।

सुधीर सिंह (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गाजियाबाद) के मुताबिक, आरोपी निरीक्षक दीपक शर्मा, उपनिरीक्षक संदीप कुमार व सचिन कुमार पर 25 - 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it