Top
Begin typing your search...

आईजी आलोक सिंह ने गाजियाबाद में 'प्रगति सेंटर' का किया उद्घाटन, कहा- समाज से भटके युवा मुख्यधारा से जुड़ेंगे

इस सेंटर में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत 17 से 25 तक की आयु के युवक-युवतियों को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

आईजी आलोक सिंह ने गाजियाबाद में प्रगति सेंटर का किया उद्घाटन, कहा- समाज से भटके युवा मुख्यधारा से जुड़ेंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद (अजीत रावत) : गाजियाबाद पुलिस और श्री राधा कृष्णा इन्फोटेक प्राइवेट लिमिटेड ने गाजियाबाद जिले में यूपी ट्रैफिक पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में "प्रगति सेंटर" के तहत प्रशिक्षण केंद्र शुरू किया गया जिसका उद्धघाटन मेरठ जोन के आईजी आलोक सिंह ने किया. इस दौरान गाजियाबाद एसएसपी सुधीर कुमार सिंह, एसपी ग्रामीण नीरज जादौन एवं रूथ लस्कानो, फील्ड ऑफिस यूपी-यूनिसेफ के प्रमुख भजि मौजूद थे. प्रशिक्षण कौशल केंद्र सरकार के प्रमुख कौशल कार्यक्रम "प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना" के तहत नौकरी सक्षम प्रशिक्षण परियोजनाओं को निष्पादित करेगा. प्रशिक्षण केंद्र में समाज से भटके युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत मोबाइल व कंप्यूटर रिपेयर का प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध करा जाएगा, जिससे वह समाज की मुख्यधारा से जुड़ सकें।

इस सेंटर में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत 17 से 25 तक की आयु के युवक-युवतियों को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा. कोर्स पूरा होने के बाद उन्हें नौकरी या अपना उद्यम स्थापित करने में भी सहायता की जाती है. इस अवसर पर मेरठ जोन के आईजी आलोक सिंह ने चयनित प्रशिक्षणार्थियों को इंडक्शन किट (बैग, नोटबुक, टी-शर्ट, जैकेट, आई-कार्ड) भी दिए.



आई० जी० मेरठ रेंज ने कहा कि आज पुलिस लोगों के दुख-सुख से लेकर समाज की हर गतिविधि में कहीं न कहीं, किसी न किसी रूप में शामिल होती ही है. पुलिस की इस पहल से समाज से अपराध कम करने में भी सहायता मिलेगी. किसी कारणवश उच्च शिक्षा न हासिल कर पाने व स्कूल ड्रॉप आउट युवाओं को अगर कुशल प्रशिक्षण देकर उन्हें किसी लायक बना दिया जाए तो वे कभी अपराध करने की सोचेंगे ही नहीं.



"प्रगति योजना" के अनुसार उत्तरप्रदेश के 10 जनपदों में जिसमें लखनऊ, कानपुर नगर, मथुरा, वाराणसी, प्रयागराज, आगरा, गौतमबुद्ध नगर, बरेली, मेरठ एवं गाजियाबाद में आगामी तीन बर्षो में 11,000 /- अभ्यर्थियों को प्रशिक्षित किया जाना है.

Special Coverage News
Next Story
Share it