Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > गाजीपुर > अफजाल अंसारी ने प्रेक्षक से मिलकर सीओ जमानियां, एसओ नोनहरा, कोतवाल गाजीपुर, कोतवाल जमानियां को हटाये जाने की मांग की

अफजाल अंसारी ने प्रेक्षक से मिलकर सीओ जमानियां, एसओ नोनहरा, कोतवाल गाजीपुर, कोतवाल जमानियां को हटाये जाने की मांग की

 Special Coverage News |  17 May 2019 10:17 AM GMT  |  दिल्ली

अफजाल अंसारी ने प्रेक्षक से मिलकर सीओ जमानियां, एसओ नोनहरा, कोतवाल गाजीपुर, कोतवाल जमानियां को हटाये जाने की मांग की
x

गाजीपुर। बसपा-सपा गठबंधन के प्रत्‍याशी अफजाल अंसारी ने चुनाव प्रेक्षक से मिलकर सीओ जमानियां कुलभूषण ओझा, एसओ नोनहरा पंगभूषण ओझा, गाजीपुर कोतवाल धनंजय मिश्रा व जमानियां के कोतवाल दिलीप सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया है।


अफजाल अंसारी ने अपने प्रार्थना पत्र में कहा है कि सीओ जमानियां 2013 में लखनऊ में पोस्‍ट थे तब एक महिला ने उनके खिलाफ 376 का मुकदमा लिखवाया था और उसमे निलंबित किये गये थे। सीओ जमानियां कुलभूषण ओझा जबसे यहां पोस्‍ट हुए हैं तबसे भाजपा के नेताओं की तरफ इनका आचरण है। क्षेत्र के सम्‍मानित कई प्रधानों को बुलाकर उन्‍हे तरह-तरह से धमकाया और भाजपा के प्रत्‍याशी मनोज सिन्‍हा के पक्ष में वोट कराने के लिए दबाव डाल रहे हैं। सीओ जमानियां ने कुछ अल्‍पसंख्‍यक बाहुल्‍य गांवों के प्रधानों के साथ भी यही व्‍यवहार किया है। इसी क्रम में उसियां गांव के ग्राम प्रधान के साथ दुर्व्‍यवहार किया गया जिसके कारण क्षेत्र में आक्रोश भड़का। अब सीओ जमानियां ने यह योजना बना रखी है कि 15 हजार मतदाताओं वाले गांवों में मतदान के दिन ऐसी स्‍थिति पैदा कर दी जाये कि अधिकतर मतदाता भयभीत होकर मतदान केंद्र पर न आ सके।


अफजाल अंसारी ने कहा कि तीन-चार दिनों से सीओ साहब का यह अभियान चल रहा है कि यादव जाति के प्रधानों को आतंकित किया जाये। इसी क्रम में फुल्‍ली गांव के ग्राम प्रधान आरती यादव के पति विजय यादव को 12 बजे रात को उनके घर से 15 गाड़ी फोर्स ले जाकर जबरदस्‍ती उठा ले गये। दो घंटा मानसिक रुप से टार्चर कर दो बजे रात के बाद उन्‍हे धमका कर छोड़ दिया गया। ढड़नी गांव के भरत यादव के घर पर भी भारी फोर्स के साथ गये किंतु वह नही मिले। बेटाबर के प्रधान सुरेश यादव के फोन पर कोतवाल जमानियां दिलिप सिंह द्वारा हड़का कर उन्‍हे थाने पर बुला लिया गया। उनके परिजन चिंतित हैं अब तक वह घर नही आये और पुलिस के द्वारा उनके घर पर तोड़फोड़ भी किया गया।


अफजाल अंसारी ने प्रेक्षक से मांग किया कि इन अधिकारियों द्वारा चुनाव में ड्यूटी लगे होने के कारण उपलब्‍ध फोर्स का दुरुपयोग करने की वजह से भय का वातावरण बनता जा रहा है। यह लोग मतदान के लिए पक्षपात करेंगे। आयोग के निष्‍पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के उद्देश्‍य को विफल कर देंगे इसलिए इन अधिकारियों का अविलंब स्‍थानांतरण किया जाये।





Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it