Top
Begin typing your search...

हरदोई: प्रेमी से दूर रहने को भेजा ननिहाल, मामा ने भांजी को ही मारकर पेड़ से लटका दिया

हरदोई: प्रेमी से दूर रहने को भेजा ननिहाल, मामा ने भांजी को ही मारकर पेड़ से लटका दिया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई में 4 दिन पहले ननिहाल आई किशोरी की हत्या की वारदात का खुलासा पुलिस ने कर दिया है. पुलिस के अनुसार इज्जत की खातिर सगे मामा लोगों ने ही मिलकर भांजी की गला घोट कर हत्या की थी. पुलिस ने दोनों मामा को गिरफ्तार कर लिया है. बता दें 19 साल की किशोरी का शव झाड़ियों में बरामद हुआ था. मृतक किशोरी का अपने ही गांव के एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था.

किशोरी के बुलाने पर युवक किशोरी से मिलने उसके ननिहाल पहुंचा था. जहां किशोरी के ननिहाल के लोगों ने युवक को पकड़ लिया था. किशोरी युवक के साथ जाने की जिद कर रही थी, जिससे गुस्साए मामाओं ने किशोरी की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को अपने चचेरे भाई से मिलकर हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए घर से 3 किलोमीटर दूर उसके शव को एक पेड़ से लटका दिया. लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की बात सामने आने के बाद पुलिस ने किशोरी के कातिल मामाओं को गिरफ्तार कर लिया है.

30 नवंबर की सुबह मिला था किशोरी का शव

हरदोई की मल्लावां कोतवाली पुलिस के कड़े पहरे में खड़े जसवंत और कमलेश माधवगंज थाना के सहेलमपुर गांव के रहने वाले हैं. इनको पुलिस ने उन्नाव जिले की 19 साल की किशोरी रिंकी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. दरअसल रिंकी का शव 30 नवंबर की सुबह मल्लावां कोतवाली इलाके में गंगारामपुर मोहल्ले में एक स्कूल के पास खड़े पेड़ों के झुरमुट में बरामद हुआ था. एसपी हरदोई आलोक प्रियदर्शी के अनुसार किशोरी के गले में उसकी ही फ्राक की प्लास्टिक की एक मोटी डोरी से गला बंधा हुआ था.

पोस्टमॉर्टम के बाद पता चला गला दबाकर की गई हत्या

प्रथम दृष्टया पुलिस को मामला आत्महत्या का लगा. किशोरी के घर वालों ने भी प्रेमी के साथ जाने और उसके बाद किसी वजह से आत्महत्या करने की शिकायत पुलिस से की थी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद जब पोस्टमार्टम कराया तो उसमें किशोरी की गला दबाकर हत्या करने की बात सामने आई. हत्या की बात सामने आने के बाद जब पुलिस ने पूरे मामले की तहकीकात शुरू की तो पता चला कि किशोरी के प्रेम संबंधों के कारण उसको ननिहाल भेजा गया था.

हत्या को आत्महत्या दिखाने के लिए शव पेड़ से लटकाया

जहां उसने अपने प्रेमी को बुला लिया और उसके साथ जाने की जिद कर रही थी. इसके बाद गुस्साये मामा जसवंत और उसके चचेरे भाई ने किशोरी का गला घोट कर हत्या कर दी और उसके बाद शव को ले जाकर एक आत्महत्या का रूप देने के लिए एक पेड़ से लटका दिया. पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

Special Coverage News
Next Story
Share it