Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > झांसी > झाँसी में बदमाशों ने थानेदार को मारी गोली, एनकाउंटर में मारा गया आरोपी खनन माफिया

झाँसी में बदमाशों ने थानेदार को मारी गोली, एनकाउंटर में मारा गया आरोपी खनन माफिया

 Special Coverage News |  6 Oct 2019 11:19 AM GMT  |  झाँसी

झाँसी में बदमाशों ने थानेदार को मारी गोली, एनकाउंटर में मारा गया आरोपी खनन माफिया

उत्तरप्रदेश के झांसी में शुक्रवार देर रात बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस को चुनौती देते हुए थाना मोंठ में तैनात थानाध्यक्ष को गोली मारकर सनसनी फैला दी। इस घटना से पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया है। आनन-फानन में घायल इंस्पेक्टर को उपचार के लिए झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। जानकारी पर ज्ञात हुआ कि, मोंठ प्रभारी निरीक्षक धर्मेद्र सिंह चौहान ने दो दिन पहले अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की थी। कार्यवाही के दौरान एक खनन माफिया का ट्रक सीज किया गया था।

बताते चलें कि, ट्रक सीज होने की वजह से खनन माफिया खुन्नस खाए हुए था। उक्त घटना को अंजाम देने के बाद खनन माफिया अपने साथी के साथ कार भी लूट ले गए।घटना की जानकारी होने पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके से पुलिस को बाइक और कारतूस बरामद हुए हैं। वहीं इस वारादत के बाद पुलिस ने पूरे इलाके में नाकेबंदी कर दी है।

इसी दौरान मोंठ इंस्पेक्टर पर गोली चलाने वाले आरोपी खनन माफिया पुष्पेंद्र यादव की पुलिस से मुठभेड़ हो गई।गुरसराय इलाके में पुलिस को देखकर पुष्पेंद्र ने फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया। घायल आरोपी को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डाॅक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने लिया घटना का जायजा

बताया जा रहा है कि, धर्मेंद्र दो दिन पहले छुट्टी पर अपने घर कानपुर गए थे। शनिवार की रात मोंठ इंस्पेक्टर कानपुर से अपनी कार से मोंठ आ रहे थे। तभी खनन माफिया ने रास्ते में उनको फोन कर कहा कि, वह मिलना चाहता है। इंस्पेक्टर ने मोंठ से पहले हाइवे पर खनन माफिया को मिलने के लिए कहा, जैसे ही इंस्पेक्टर वहां पहुंचे खनन माफिया ने फायरिंग शुरू कर दी। पहली गोली उनके नजदीक से निकली, उसके बाद माफिया और उसके साथी ने इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया। घटना की जानकारी पाकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल, एसएसपी डॉ ओपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक देहात राहुल मिठास, समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई।

एसएसपी डॉ ओपी सिंह ने बताया कि, दो दिन पहले मोंठ इंस्पेक्टर ने एक बालू माफिया की गाड़ी के खिलाफ कार्यवाही करते हुए गाड़ी सीज कर दी थी। इसके बाद बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है। एसएसपी ने बताया कि, बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। वहीं, इंस्पेक्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है। एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि, गोली इंस्पेक्टर के गाल को छूते हुए निकल गई।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it