Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > कानपुर > समाजवादी पार्टी ने अपने इस बड़े नेता को पार्टी से निकाला

समाजवादी पार्टी ने अपने इस बड़े नेता को पार्टी से निकाला

 Special Coverage News |  4 Dec 2018 9:23 AM GMT  |  कानपुर

समाजवादी पार्टी ने अपने इस बड़े नेता को पार्टी से निकाला
x

शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया को सपा प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है. पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने के पीछे आरोप है कि वह काफी समय से पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल है,,जिसके बाद प्रदेश अध्यक्ष के जारी किये गये पत्र के अनुसार उन्हे 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया.

समाजवादी पार्टी की नीव पड़ने से लेकर शिखर तक पहुचने में पूर्व कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया का भी अहम योगदान रहा है. कानपुर शहर के डीएवी कालेज से छात्र राजनीती से आगे कदम बढ़ाने वाले शिव कुमार बेरिया का कद सपा में अलग ही माना जाता था. कचहरी के चेतना चौराहा पर राजनिति की महफिल सजाने में भी उनका ही योगदान रहा है. वह पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के भी बेहद करीबी रहे, पार्टी के प्रति आस्था पर ही उन्हे कैबिनेट में भी जगह दी गयी.






पांच बार विधायक रहे शिव कुमार बेरिया का राजनैतिक सफर बहुत ही लम्बा है.शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की राजनीती में उनकी सक्रियता अहम स्थान रखती थी. लेकिन अचानक पार्टी से 6 साल के लिए निकाले जाने पर राजनैतिक गलियारे में चर्चा का विषय बना हुआ है. खासकर बिल्हौर विधानसभा उनका कर्मक्षेत्र रहा है. पार्टी से निष्कासित किये जाने पर उनका कहना है कि लोकतांत्रिक तरीके से किसी को पार्टी से निकाले जाने की प्रकिया है. चालिस साल की राजनिती का सफर तय करने के लिए कई सघर्ष किये है. कोई मल्टीनेशनल कम्पनी के नौकर तो है नही कि जब चाहा तो निकाल दिया, या फिर जब चाहा वापस बुला लिया, अगर समाजवादी पार्टी को उनकी जरुरत नही है,,तो उनके सामने विकल्प खुले हुए है.

पांच बार बने विधायक, लंबे समय से सपा से जुड़े रहे

शिवकुमार बेरिया का राजनीतिक सफर कानपुर से शुरू हुआ और पढ़ाई के समय से वह राजनीति में सक्रिय रहे. वह अबतक पांच बार विधायक रह चुके हैं. पूर्ववर्ती सपा सरकार में वह रसूलाबाद विधानसभा सीट से विधायक थे और रेशम एवं वस्त्र उद्योग विभाग से कैबिनेट मंत्री रहे. वह लंबे समय से समाजवादी पार्टी से जुड़े रहे और पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव के काफी नजदीकी भी रहे. राजनीति में कानपुर से जुड़ी बिल्हौर विधानसभा उनका कर्मक्षेत्र रहा है. वर्ष 1989 में सीसामऊ विधानसभा, वर्ष 1991, 1993, 2002 में बिल्हौर विधानसभा क्षेत्र से तीन बार और वर्ष 2012 रसूलाबाद विधानसभा सीट से विधायक बने.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it