Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > अखिलेश 13 को फिर करेगे रामपुर जाने का प्रयास , मायावती पर कुछ कहने से किया इंकार

अखिलेश 13 को फिर करेगे रामपुर जाने का प्रयास , मायावती पर कुछ कहने से किया इंकार

 Special Coverage News |  9 Sep 2019 8:06 AM GMT  |  लखनऊ

अखिलेश 13 को फिर करेगे रामपुर जाने का प्रयास , मायावती पर कुछ कहने से किया इंकार
x

राज्य मुख्यालय लखनऊ। सपा के वरिष्ठ एवं नंबर 2 की हैसियत के नेता मौहम्मद आजम खान पर योगी सरकार की द्वेष भावना की कार्रवाई के विरोध में सपा के मालिक को आज सीतापुर और शहाजहांपुर होते हुए रामपुर जाना था लेकिन वहाँ के प्रशासन ने रामपुर में दंगा होने की आशंका को बहाना बनकर सपा मालिक को रामपुर आने की इजाज़त नही दी जिसके बाद सपा के मालिक ने योगी सरकार को निशाने पर लिया।

लेकिन बसपा की अध्यक्ष मायावती पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया मायावती पर कुछ नही बोलना भविष्य की सियासत तो नही है ये आने वाले टाइम में ही पता चलेगा।सपा के मालिक अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस रामपुर दौरा रद्द होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस आज सीतापुर, शाहजहांपुर होते हुए रामपुर जाना था वहां पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात करनी थी‌ अब एक बार फिर 13 और 14 को रामपुर जाने का प्रयास करूंगा प्रशासन को पूरे कार्यक्रम की जानकारी दे दी गई थी रामपुर PWD गेस्ट हाउस में रुकना था प्रशासन ने किसी निजी होटल में रुकने के लिए कहा राजनैतिक इतिहास में ऐसे मुकदमे दर्ज नहीं हुए होंगे फिर जिला प्रशासन को अनुमति के लिए पत्र भेजूंगा रामपुर जिला प्रशासन ने ऐसा माहौल बनाया ताकि हम जा न पाएं हमें जाने से रोकने के लिए सरकार काम कर रही सरकार को खुश करने का काम कर रहे है डीएम अखिलेश ने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया उन्होने कहा कि जो कांग्रेस है वो बीजेपी है, जो बीजेपी है वही कांग्रेस है।

जिला प्रशासन की तरफ से ऐसा माहौल बनाया गया कि मैं आऊंगा तो दंगा होगा आने वाली पीढ़ियों के लिए रामपुर में यूनिवर्सिटी बनी रामपुर में बीजेपी, शासन, प्रशासन, कांग्रेस सब एक है यूनिवर्सिटी को खत्म करने के लिए पॉलिटिकल मुकदमे लगाए गए हैं पूरी पार्टी आजम खान के साथ खड़ी हैं 13 और 14 को मुझे नहीं लगता कि मुझे रोका जाएगा मोदी की बीजेपी को लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है, मैं एक सूची सरकार को दूंगा उसका भी उद्घघाटन करें जल्दी 100 दिन में एक हटा दो तो एक जीरो केंद्र का एक यूपी सरकार की परफॉर्मेंस है 5 कालिदास में हम भी रहे हैं।

मैंने लोकभवन इसलिए नहीं बनाया था कि सरकार अन्याय करें। यूपी को कुछ नहीं मिला, लेकिन प्रधानमंत्री से मिला,राष्ट्रपति से मिला यूपी गवर्नर से भी बहुत मिले,यूपी की जनता को कुछ नहीं मिला. बच्चे अगर नमक रोटी खा रहे थे, उसे दिखाने वाले पर केस दर्ज हो गया गीता में योगी की परिभाषा कुछ और है। योगी वो है जो दूसरे के दुख को अपना समझे यहां तो योगी खुद दुख दे रहे हैं।

मंत्री क्यो हटाए गए बताना चाहिए। आईआईएम में क्या सीखेंगे मंत्री, इन्वेस्टमेंट का दावा करने वाले बताएं कहां आ रहा है इन्वेस्टमेंट, कौन सी बैंक इन्वेस्टमेंट को सपोर्ट कर रही बताएं व्यापारी आज कह रहे गलती हो गई, सपा की स्कीम को बंद किया था वही फिर शुरू कर रहे, आज यूपी में दूध भी गुजरात से आ रहा सपा की स्कीम को बंद किया था, वही फिर शुरू कर रहे,अखिलेश यादव ने 2022 में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया, मायावती के बारे में हम कुछ नहीं बोलेंगे आजमगढ़ के लोगों के लिए सपा ने क्या किया ये मोदी की बीजेपी को अभी पता नहीं है मोदी की बीजेपी के मंत्री ट्रेनिंग इसलिए कर रहे क्योंकि इनको कुछ पता नहीं है शासन से हट जाए, सपा को पता है सरकार कैसे चलेगी हम चला लेंगे सरकार ने कर्ज माफ किया नहीं बैंक अलग डूबो दिए है।देश की हालत बद से बत्तर कर दी है इसके परिणाम आने शुरू हो गए है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it