Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > विधानसभा अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद नाराज विधायक धरने से उठे, कल सुनाया जाएगा फैसला, देखें वीडियो

विधानसभा अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद नाराज विधायक धरने से उठे, कल सुनाया जाएगा फैसला, देखें वीडियो

 Special Coverage News |  17 Dec 2019 1:02 PM GMT  |  लखनऊ

विधानसभा अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद नाराज विधायक धरने से उठे, कल सुनाया जाएगा फैसला, देखें वीडियो
x

उत्तर प्रदेश में आज उस समय अजीबो गरीब समस्या उत्पन्न हो गई जब सत्ता पक्ष और विपक्ष के लगभग दो सो विधायक धरने पर बैठ गए. सरकार के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और मंत्री सुरेश खन्ना के मान मनोबल के बाद भी विधायक नहीं माने अपनी मांग पर डटे रहे, ये विधायक गाजियाबाद की लोनी विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी विधयाक नन्द किशोर गुर्जर के मामले को लेकर नाराज थे.

इस मामले में हालत बिगड़ते देख विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने हस्तक्षेप किया और और नाराज विधायकों की बात सुनी. उसके बाद उनसे धरना समाप्त करने की बात करते हुए इस मामले पर कल फैसला सुनाये जाने की बात की. अध्यक्ष की बात से विधयाक सहमत दिखे और धरना स्थल से हट गए. अध्यक्ष ने ततकाल आदेश देते हुए गाजियाबाद के जिलाधिकारी और एसएसपी को सदन में कल ग्यारह बजे उपस्तिथ होने का फरमान सुना दिया.

इस पुरे घटना क्रम का समाजवादी पार्टी एमएलसी उदयवीर सिंह ने वीडियो शेयर किया और कहा कि विधान सभा मे भाजपा विधायक के पुलिसिया उत्पीड़न के ख़िलाफ़ सदन मे बैठे है और स्पीकर साहब सदन इस्तगित करके ग़ायब है. सैकड़ों सत्ता पक्ष के विधायक भी न्याय माँग रहे है मगर सरकार गूँगी बहरी बनी है. जब भाजपा अपने विधायक की ज़ुबान काँट ले रही है तो हमारी गर्दन कटने मे क्या हर्ज है.

मामला क्या था जो BJP विधायक वेल में सरकार के खिलाफ आये

आज विधानसभा में उस समय हालात असहज हो गए जब गाजियाबाद के लोनी विधानसभा से बीजेपी के विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने दारोगा के जरिए उनकी पिटाई करने का मामला विधानसभा अध्यक्ष के सामने उठाना चाहा. बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि दारोगा ने ना सिर्फ उनसे बदसलूकी की बल्कि उनकी पिटाई भी की , ऐसे भी विधानसभा पीठ उनकी रक्षा करें. विधानसभा अध्यक्ष ने BJP विधायक गुर्जर को अनसुना कर दिया. इसके बाद बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर के पक्ष में समाजवादी पार्टी समेत विपक्ष के विधायक भी आ गए. विपक्षी विधायकों ने कहा कि नंदकिशोर गुर्जर की समस्या सुनी जाए. हालात को बिगड़ते देख विधानसभा अध्यक्ष ने फौरन विधानसभा की कार्रवाई स्थगित करने की बात कही.

हालात उस वक़्त एकदम बिगड़ गया जब बीजेपी के 100 विधायक नंद किशोर गुर्जर के पक्ष में खड़े हो गए ।BJP के सभी विधायक सरकार के खिलाफ ही सदन के वेल में आ गए. बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर के पक्ष में नारेबाजी भी हुई. हालात खराब होता देख विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा की कार्रवाई को फिर बढ़ा दिया. उम्मीद की जा रही बैक डोर से गुर्जर को मैनेज किया जा रहा है.

बता दें कि यूपी के इतिहास में ऐसा वाकया पहली बार हुआ है जब सत्ता पक्ष के विधायकों को विपक्ष के पूरा साथ मिला और सरकार से अपनी नाराजगी व्यक्त की. फिलहाल यह धरना समाप्त हो गया है.



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it