Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > पीली साडी वाली महिला अफसर पर जब टूटा 2013 में दुखों का पहाड़, टूट गई थी पूरी तरह

पीली साडी वाली महिला अफसर पर जब टूटा 2013 में दुखों का पहाड़, टूट गई थी पूरी तरह

मूल रूप से यूपी के देवरिया जिले की रहने वाली इस महिला चुनाव अधिकारी का नाम हैं रीना द्विवेदी. रीना ने अपनी जिंदगी के दर्द को साझा किया.

 Special Coverage News |  14 May 2019 3:41 AM GMT  |  दिल्ली

पीली साडी वाली महिला अफसर पर जब टूटा 2013 में दुखों का पहाड़, टूट गई थी पूरी तरह
x

लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर एक पीली साड़ी वाली महिला अधिकारी की तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हुई. जहां कुछ दिनों पहले तक इस महिला की कोई पहचान नहीं थी, आज वो सोशल मीडिया में चर्चा का केंद्र बन गई हैं. फेसबुक से लेकर वाट्सएप पर आज हर कोई इस महिला को देखना चाहता है. लेकिन इस महिला की रियल लाइफ में बहुत सारे उतार चढ़ाव आए हैं. मूल रूप से यूपी के देवरिया जिले की रहने वाली इस महिला चुनाव अधिकारी का नाम हैं रीना द्विवेदी. रीना ने अपनी जिंदगी के दर्द को साझा किया.

लखनऊ के पीडब्‍लूडी विभाग में कनिष्‍ठ सहायक के पद पर तैनात रीना द्विवेदी कहती हैं कि 2004 में मेरी शादी पीडब्ल्यूडी विभाग में काम करने वाले सीनियर सहायक संजय द्विवेदी से हुई थी. लेकिन 2013 में उनकी मौत हो गई. पति के मौत के बाद मेरी हिम्मत बिल्कुल टूट गई. रीना ने बताया कि मुझे पति की जगह नौकरी मिली. आज मेरा बेटा 13 साल का है. रीना बताती हैं कि बचपन से मुझे अपने को फिट रहने का शौक था. यहीं कारण है कि मुझे फोटो सेशन करवाना अच्छा लगता है. वहीं मैं हमेशा ड्रेस कोड का सिलेक्शन सोच समझकर करती हूं, जिससे मैं खूबसूरत नजर आए.




ड्रेस कोड का सिलेक्शन

उन्होंने बताया कि इससे पहले वो बार अपनी फोटो सोशल मीडिया में पोस्ट कर चुकी है. रीना ने बताया कि मुझे भोजपुरी फिल्मों में काम करने का ऑफर मिला था, लेकिन मैंने मना कर दिया. सोशल मीडिया में लाखों फैन फोलोइंग बनाने वाली रीना द्विवेदी कहती हैं कि अगर मुझे अब फिल्मों में काम करने का मौका मिलेगा तो उसपर विचार करूंगी. रीना द्विवेदी का कहना है कि वो हमेशा ऐसे ही तैयार होकर ऑफिस जाती हैं.

परिवारिक वेशभूषा

तस्वीरें वायरल होने के बाद उन्होंने कहा कि लोग उनके साथ सेल्फी खिंचा रहे हैं, दूर-दूर से फोन आ रहे हैं. कभी ये सब अच्छा भी लगता है लेकिन फिर उलझन भी हो रही है. उन्होंने कहा कि मैं केवल अपना काम कर रही थी. उन्होंने बताया कि मोहनलालगंज के नगराम पोलिंग बूथ में ड्यूटी थी. रीना ने कहा कि परिवार वाले इसे बेहद सकारात्मक तरीके से ले रहे हैं, वो कह रहे हैं कि बिटिया का नाम हुआ. रीना द्विवेदी ने ये भी बताया कि उनके बूथ पर 70 फीसदी वोटिंग हुई थी. भविष्य में सेलिब्रेटी बनने का सपना रखने वाली पीली साड़ी में महिला अधिकारी रीना द्विवेदी सोशल मीडिया की सुर्खियां बनी हुई है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it