Top
Breaking News
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद का खुलासा, कैसे मिला सोनभद्र में सोने का भंडार!

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद का खुलासा, कैसे मिला सोनभद्र में सोने का भंडार!

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में सोने का बड़ा भंडार मिलने को प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भगवान राम की कृपा बताया है.उन्होंने कहा कि सोनभद्र में सोने का इतना विशाल भंडार मिलना राम जी की कृपा है.

 Shiv Kumar Mishra |  22 Feb 2020 11:01 AM GMT  |  सोनभद्र

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद का खुलासा, कैसे मिला सोनभद्र में सोने का भंडार!

उत्तर प्रदेश के पिछड़े जिलों में गिने जाने वाले सोनभद्र में सोने का एक बड़ा भंडार मिला है. इस पर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि सोनभद्र में सोने का इतना विशाल भंडार मिलना राम जी की कृपा है. उन्होंने कहा कि ये मोदी पर राम जी कृपा है, जिससे इतना बड़ा भंडार मिला है. इससे देश का विकास होगा.

बता दें कि सोनभद्र में करीब 3 हजार टन सोना मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है. जिस पहाड़ी में सोना मिला है, उसका रकबा 108 हेक्टेयर बताया जा रहा है. ई-टेंडरिंग से इसकी नीलामी का आदेश भी जारी कर दिया गया है. भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि की. इससे पहले, खनिज स्थलों की जियो टैगिंग के लिए सात सदस्यीय टीम गठित की गई थी, जिसकी रिपोर्ट 22 फरवरी तक खनिकर्म निदेशालय लखनऊ को सौंपी जाएगी.

सोनभद्र के जिला खनन अधिकारी केके राय ने शुक्रवार को बताया था कि भूतत्व और खनिकर्म विभाग और जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) की टीम इस कार्य में लगी हुई है. उन्होंने बताया कि 2005 के बाद इस पर काम शुरू किया गया. रिपोर्ट अभी इसी साल मिली है. इसमें करीब 3 हजार टन सोना मिलने का अनुमान है. सोने की मौजूदा कीमत के हिसाब से इतने सोने का मूल्य करीब 12 लाख करोड़ रुपये होगा.

अब जीएसआई खदान के इलाके का हवाई सर्वेक्षण करा रही है. इसके लिए 2 हेलिकॉप्टर तैनात किए गए हैं. उन्होंने बताया कि इसका आकलन किया जा रहा है कि कितनी राजस्व की भूमि है और कितनी वन विभाग की है, ताकि खनन के लिए वन विभाग से अनुमति की प्रक्रिया शुरू हो सके.

उधर सरकार ने इन खदानों को लीज पर देने की प्रक्रिया में भी तेजी ला दी है. इनके खनन के लिए नीलामी प्रक्रिया से पूर्व जियो टैगिंग की कार्रवाई शुरू की गई है. सीमांकन का कार्य पूरा होते ही ई टेंडरिंग किया जाएगा, जिस पहाड़ी में सोना मिला है उसका रकबा 108 हेक्टेयर बताया जा रहा है. इसके अलावा भी क्षेत्र की पहाड़ियों में तमाम कीमती खनिज संपदा होने की बात भी चर्चा में है. बताया जा रहा कि हवाई सर्वे के माध्यम से यूरेनियम होने का भी पता लगाया जा रहा है. इसकी प्रबल संभावना बताई जा रही है.

जिले के कई भू-भागों में हेलिकप्टर से भू-भौतिकीय सर्वे जारी है. इस सर्वेक्षण में विद्युती चुम्बकीय एवं स्पेक्ट्रोमीटर उपकरणों का प्रयोग किया जा रहा है. इन उपकरणों का कुछ भाग हेलिकप्टर के नीचे लटका रहता है जो कि जमीन की सतह से 60-80 मीटर की ऊंचाई पर उड़ते हुए सर्वेक्षण करता है. सोनभद्र डीएम एन राजलिंगम ने कहा कि इन हेलिकॉप्टर में कुछ उपकरण नीचे लटके रहते हैं, उन्हें देखकर लोग डरे नहीं, इसमें चिंता की कोई बात नहीं है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it