Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > यूपी एसटीएसफ ने मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह के सरगना समेत 3 सदस्यों से साढ़े चार करोड़ का गांजा किया बरामद

यूपी एसटीएसफ ने मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह के सरगना समेत 3 सदस्यों से साढ़े चार करोड़ का गांजा किया बरामद

 Special Coverage News |  4 Sep 2019 1:20 PM GMT  |  लखनऊ

यूपी एसटीएसफ ने मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह के सरगना समेत 3 सदस्यों से साढ़े चार करोड़ का गांजा किया बरामद

यूपी एसटीएफ के द्वारा जनपद अयोध्या से मादक पदार्थो की तस्करी करने वाले अन्र्तराज्यीय गैंग के सरगना सहित 3 सदस्यों को उच्चकोटि का 1135 किलोग्राम गांजा ( मूल्य लगभग 4.50 करोड़ रूपये) के साथ गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता हासिल हुई.

यह जानकारी एसटीएफ के एसएसपी राजीव नारायण मिश्र ने देते हुए बताया कि एसटीएफ टीम को विश्वस्त सूत्रों के माध्यम से ज्ञात हुआ कि पूर्वी यूपी के विभिन्न जनपदों में उडीसा से मादक पदार्थ गांजा, तस्करी कर लाया जा रहा है. जिसे पूर्वी उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों में बेंचा जा रहा है. इसी क्रम में मेरे निर्देषानुसार प्रमेष कुमार शुक्ला पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ के पर्वेक्षण में कार्य कर रही मुख्यालय स्थित टीम उप निरीक्षक करूणेष पाण्डेय के नेतृत्व में जनपद अयोध्या में अभिसूचना संकलन में लगी हुई थी. तभी 3.सितंबर .2019 को जरिये मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि आयसर ट्रक द्वारा उडीसा से अवैध गांजा लाया जा रहा है, जिसे कोतवाली नगर क्षेत्र अयोध्या के देवकाली बाई पास रोड के आस पास जितेन्द्र गुप्ता नाम के व्यक्ति द्वारा सफेद रंग की सियाज गाड़ी से आकर रिसीव किया जायेगा.

इस सूचना से एनसीबी लखनऊ के सहायक निदेशक श्री रवि जोशी को अवगत कराते हुए एनसीबी की एक टीम जनपद-अयोध्या भेजकर एसटीएफ टीम का सहयोग करने हेतु कहा गया। एसटीएफ टीम मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुचकर उक्त ट्रक का इन्तजार करने लगी, इसी दौरान एनसीबी लखनऊ की एक टीम निरीक्षक उदयभान मिश्रा के नेतृत्व में देवकाली बाई पास कोतवाली नगर क्षेत्र अयोध्या पहुंच गयी. कुछ देर बाद बस्ती-अयोध्या रोड की तरफ से उक्त नम्बर का आयसर ट्रक देवकाली बाईपास पर आकर रूका तभी अवैध गांजे की डिलेवरी लेने आये सफेद रंग की सियाज सवार 1 व्यक्ति आकर ट्रक सवार व्यक्तियों से बात चीत करने लगा। एसटीएफ व एनसीबी की संयुक्त टीमों द्वारा न्यूनतम आवष्यक बल प्रयोग कर उक्त ट्रक व सियाज कार को उनके सवारो सहित 3 व्यक्तियों को हिरासत मंे लिया गया। तिरपाल से ढ़की ट्रक की तलाषी लेने पर उसमें सफेद रंग की बोरियों में बन्द भारी मात्रा में अवैध मादक पदार्थ गांजा पाया गया तथा पकड़े गये व्यक्तियों से उपरोक्त बरामदगी हुई।

गिरफ्तार अभियुक्तों ने संयुक्त व अलग-अलग पूछताछ पर बताया कि पकड़ी गयी ट्रक उसमान अली पुत्र लुखमन निवासी मौसम खानी, थाना-किठौर, जनपद-मेरठ की है तथा सियाज कार जितेन्द्र गुप्त उपरोक्त की है। उपरोक्त ट्रक के चालक दीपक जाटव द्वारा बताया गया कि करीब 15 दिन पहले मेरठ के इमरान ट्रान्सपोर्टर द्वारा कपड़ा लेकर कोरापुट भवानी पटना उडीसा भेजा गया था। कोरापुट में कपड़ा अनलोड करने के बाद ट्रान्सपोर्टर इमरान के कहने पर विशाखापट्टनम से अण्डो की ट्रेज लाद कर कोरापुट लायी गयी। ट्रान्सपोर्टर इमरान के ही कहने पर कोरापुट पार्किंग में कुषीनगर उत्तर प्रदेष के रहने वाले मनोज चैधरी व दिनेष गुप्ता नाम के व्यक्तियों से मुलाकात हुई। दोनों व्यक्तियों ने अण्डों की ट्रेज मंे छिपाकर अवैध गांजा जनपद अयोध्या उ0प्र0 तक पहुचाने को कहा तथा बदले में खर्चों के अतिरिक्त 35 हजार रूपये माल डिलीवर होने के उपरान्त देने की पेशकश की। लालच वश उनकी पेशकश को स्वीकार कर लिया। उन दोनों व्यक्तियों के कहने पर कोरापुट, उडीसा के एक स्थानीय ड्राइवर द्वारा ट्रक कई किलोमीटर दूर जंगल में ले जाई गयी जहां पर अवैध गांजा लोड किया गया तथा गांजे की बोरियों को अण्डांे की ट्रेज में छिपाकर ट्रक को तिरपाल से ढ़क दिया गया। मनोज चौधरी व दिनेश गुप्ता अपनी कार से साथ-साथ झारखण्ड की सीमा तक आये तदोपरान्त उन्होने बताया कि सफेद रंग की सियाज कार नम्बर न्च् 32 थर्् 7806 से देवकाली बाई पास अयोध्या पर जितेन्द्र गुप्ता मिलेगंे। उनके द्वारा बतायी हुई जगह पर अवैध गांजे की डिलीवरी दी जानी है। इसी क्रम से अयोध्या पहुचा था और पकड़ लिया गया। पकड़े गये जितेन्द्र गुप्ता द्वारा बताया गया कि मनोज चैधरी व दिनेश गुप्ता केे कहने पर गांजे की डिलीवरी के लिए देवकाली बाई पास पर आया था। आगे गाजे से भरा हुआ ट्रक कहां पहुचाया जाना है इस सम्बन्ध में मनोज चैधरी द्वारा अवगत कराया जाता, इससे पूर्व ही पकड़ लिया गया। ट्रक के खलासी धानिक यादव ने बताया कि कोरापुट उड़ीसा निवासी जवाहर के कहने पर उत्तर प्रदेश के मनोज चैधरी से मुलाकात कोरापुट में ही हुई थी, जिसने अयोध्या तक गांजों से भरे ट्रक के साथ खलासी बनकर जाने को कहा था, इस एवज में रू 5,000/- देने को कहा था। लालच वस इस काम के लिए तैयार हो गया और पकड़ लिया गया।

मालूम हो कि नवम्बर 2017 में दिनेश गुप्ता पुत्र हीरामुनीम, ग्राम व थाना तमकुही, जनपद कुषीनगर को एसटीएफ, लखनऊ की टीम द्वारा उड़ीसा प्रान्त से लाये गये 6 कुन्तल गांजे के साथ गिरफ्तार किया जा चुका है। उपरोक्त गिरफ्तार अभियुक्तों के अपराधिक इतिहास व अन्य गतिविधियों के सम्बन्ध में सम्बन्धित राज्यों एवं जनपदों से जानकारी की जा रही है। नारकोटिक्स कन्ट्रोल ब्यूरो, लखनऊ द्वारा अभियुक्तगणों के विरूद्व अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top