Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मेरठ > मंत्री सुरेश राणा के गनर की हत्या का खुलासा, तांत्रिक ने बताई पूरी बात

मंत्री सुरेश राणा के गनर की 'हत्या' का खुलासा, तांत्रिक ने बताई पूरी बात

मेरठ में मंत्री के गनर आशीष की हत्या

 Shiv Kumar Mishra |  29 Jan 2020 5:44 AM GMT  |  मेरठ

मंत्री सुरेश राणा के गनर की

गन्ना मंत्री सुरेश राणा के गनर आशीष ने आत्महत्या की थी. पुलिस ने मुजफ्फरनगर के तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया. प्रेमिका को पाने के लिए तांत्रिक से ताबीज लिये थे. एक दिन पहले गोली लगी लाश मिली थी.

क्या था पूरा मामला

पुलिस को शक, तनाव के चलते आत्महत्या की सिपाही ने, लेकिन हथियार न मिलने से उलझन!

सिपाही तलाक समझौता करने छुट्टी पर आया हुआ था गांव, कनपटी पर गोली मारकर ली गई जान आत्महत्या है या हत्या हुई?

आशीष कुमार सिपाही की मौत की खबर फैलते ही मौके पर भारी भीड़ जुट गई।

इसी लिखित समझौते के लिए आशीष दो दिन की छुट्टी लेकर गांव आया हुआ था।

सिपाही की हत्या की सूचना पर पहुंचे इंस्पेक्टर मवाना विनय कुमार आजाद ने बताया कि घटनास्थल पर काफी खून पड़ा था। सिपाही की चप्पल भी पास ही पड़ी थी। आत्महत्या का शक है। सुबह जब पुलिस मौके पर पहुंची, तब बताया गया था कि शव के पास तमंचा लोगों ने पड़ा देखा था, फिलहाल वह नहीं मिला है। ऐसे में फरेंसिक जांच की रिपोर्ट से ही साफ होगा कि यह हत्या है या आत्महत्या। हालांकि पुलिस की आत्महत्या की सोच को ग्रामीण यह कहकर खारिज कर रहे हैं कि समझौते से चंद घंटे पहले सिपाही अपनी जान क्यों देगा और सिपाही राइट हैंड से सारे काम करता था, जबकि गोली उसकी लेफ्ट साइड में लगी है। एसपी देहात अविनाश पांडे का कहना है कि कई दूसरे पहलुओं पर पुलिस जांच कर रही है।

मवाना इलाके के गांव खेड़ी मनिहार में यूपी सरकार के गन्ना मंत्री सुरेश राणा के गनर (सिपाही) आशीष कुमार की मंगलवार सुबह फलावदा रोड पर गोली मारकर हत्या कर दी गई। सिपाही छुट्टी पर गांव गया हुआ था। वह अपने खेतों में धार्मिक क्रिया (देवता पूजन) के लिए गया था मगर उसी जगह से उसका गोली लगा हुआ शव बरामद हुआ। पुलिस को शक है कि सिपाही ने तनाव के चलते गोली मारकर आत्महत्या की है, लेकिन मौके से कोई हथियार नहीं मिलने से गुत्थी उलझी हुई है। यह हत्या है या आत्महत्या, इसे लेकर अब पूरा दारोमदार फरेंसिक रिपोर्ट पर है।

एसपी देहात मेरठ अवनीश पांडे के मुताबिक मारे गए सिपाही का नाम आशीष कुमार चौधरी (28) है जो 2011 में यूपी पुलिस में सिपाही के तौर पर भर्ती हुआ था। फिलहाल वह शामली पुलिस लाइन में तैनात था। बताते हैं कि आशीष कुमार की ड्यूटी शामली निवासी प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री सुरेश राणा के गनर के तौर पर थी। सिपाही के पिता संजीव कुमार चौधरी ने बताया कि आशीष की शादी मेरठ के भराला में हुई थी। शादी के बाद से ही पति-पत्नी में विवाद चल रहा था। तलाक देने पर दोनों राजी हो गए थे। मंगलवार को सिपाही का ससुराल वालों से तलाक को लेकर 22 लाख रुपये में समझौता होना तय

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it