Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुरादाबाद > मुरादाबाद: CAA के विरोध करने वालों को समझाना इमाम को पड़ा भारी

मुरादाबाद: CAA के विरोध करने वालों को समझाना इमाम को पड़ा भारी

पुलिस अधिकारी का भी कहना है कि इस संबंध में शिकायत मिली है जांच कराई जा रही है तदोपरांत विधिक कार्यवाही की जाएगी।

 Sujeet Kumar Gupta |  17 Jan 2020 10:33 AM GMT  |  नई दिल्ली

मुरादाबाद: CAA के विरोध करने वालों को समझाना इमाम को पड़ा भारी
x

(सागर रस्तौगी)

मुरादाबाद। मुरादाबद में एक व्यक्ति को CAA के विरोध करने वालों को समझाना इतना भारी पड़ा कि पहले उसके साथ मारपीट की और जब इससे भी मन नहीं भरा तो उसका हुक्का पानी बन्द कर सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया। इस सबसे परेशान होकर पीड़ित पुलिस से न्याय की गुहार लगाने पहुँच गया। पुलिस अधिकारी जांच कराने और विधिक कार्यवाही की बात बोल रहे हैं।

मामला मुरादाबाद के थाना मूंढापांडे के गांव सिरसखेड़ा के रहने वाले इदरीस अदमद एडवोकेट से व उनके परिवार से जुड़ा है। इदरीस ने जो बात शिकायत पत्र में लिखी है वोही कैमरे के सामने बताया कि सिरसखेड़ा की चांद मस्जिद का ईमाम अनीस मियाँ CAA, NRC जैसे राष्ट्रीय मुद्दों पर लोगों को गुमराह कर नफरत फैलाने का कार्य कर रहा है। उन्होंने इमाम को ऐसा करने से मना किया तो इमाम अनीस मियां ने 13 जनवरी को लोगों को साथ लेकर उनके घर पहुंचकर उनके साथ व बेटे खाकान के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं अब उनका हुक्का पानी बन्द करते हुए पूरे परिवार सहित सामाजिक व धार्मिक बहिष्कार भी कर दिया है। इदरीस पर व उनके परिवार पर मस्जिद में नमाज पढ़ने व लोगों से बोलने और सामान खरीदने तक पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

सामाजिक बहिष्कार के लिए बोले जाने का एक ऑडियो भी इदरीस द्वारा उपलब्ध कराया जिसमें भरी पंचायत में इदरीस के पूरे परिवार का हुक्का पानी बन्द कर बहिष्कार किये जाने की बात जामा मस्जिद के ईमाम साशिद के द्वारा बोली जा रही है। इसके अलावा भी कई आपत्तिजनक बाते उस ऑडियो में सुनाई दे रही हैं। पीड़ित इदरीस ने प्रार्थना पत्र देकर परिवार के साथ कोई अनहोनी न इसलिए दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। ये सारी बातें इदरीस ने कैमरे के सामने भी कही।

पीड़ित शिकायतकर्ता

जब गांव सिरसखेड़ा जाकर इस बात की तस्दीक करने की कोशिश की गई तो वहां का माहौल कुछ अजीब सा था। गांव में घुसते ही प्रधान निवास के बाहर ही लोग पंचायत के रूप में एकत्र थे और ईमाम अनीस मियाँ भी वहीं मौजूद मिल गए। इस बाबत जब ईमाम से पूछा गया तो झगड़े की बात तो सही बताई लेकिन झगड़े का कारण CAA या NRC नहीं बल्कि झगड़े का कारण दीनी बात को लेकर मतभेद बताया गया जो काफी दिनों से चल रहा है। ईमाम ने भी इदरीस के बेटे पर मारपीट करने का आरोप लगाया है।

पंचायत में मौजूद सिरसखेडा के प्रधान इकरार से जब इस मामले में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि CAA NRC इंटरनेशनल मामला है। उसको लेकर उनके गांव में कोई बात नहीं हुई बल्कि जो इमाम साहब ने बताई है वो ही बात है। इदरीस के बेटे ने ईमाम साहब पर हाथ उठाया है जिसको लेकर नाराजगी है। बात पुलिस में भी पहुंच गई है लेकिन आपस में निबटाने की कोशिश की जाएगी। इसके अलावा वहां पहले से ही पंचायत में मौजूद सिरसखेडा के जामा मस्जिद के ईमाम राशिद ने तो इदरीस के बहिष्कार के साथ साथ ये तक कह डाला कि ऐसे लोगों का बहिष्कार होना चाहिए ऐसे ही लोग जेहादी आतंकवादी होते हैं।

मामला CAA का समर्थन करने पर एक शख्श का परिवार सहित सामाजिक व धार्मिक बहिष्कार से जुड़ा है तो पुलिस अधिकारी का भी कहना है कि इस संबंध में शिकायत मिली है जांच कराई जा रही है तदोपरांत विधिक कार्यवाही की जाएगी।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it