Top
Begin typing your search...

एसएसपी अमित पाठक की मेहनत लाई रंग, प्रदेश के सबसे अच्छे दस जिलों में मुरादाबाद को मिला पहला स्थान

जिसमें पिछले छह महीने अर्थात 15 सितंबर तक के आंकड़ों के मुताबिक जहाँ जिले में कोई डकैती नहीं पड़ी तो लूट की भी सिर्फ चार वारदात सामने आई। जबकि इन गंभीर अपराधों का खुलासा शत प्रतिशत रहा है।

एसएसपी अमित पाठक की मेहनत लाई रंग, प्रदेश के सबसे अच्छे दस जिलों में मुरादाबाद को मिला पहला स्थान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा टॉप टेन जिलों की एक सूची जारी हुयी है। जिसमें मुरादाबाद को 10 सबसे अच्छे जिलों की सूची में शुमार किया गया है। अपराध व अपराधियों के खिलाफ कारवाई करने के लिए इस सूची में जिले को प्रथम पायदान पर रखा है। यह सूची अपर प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी ओपी सिंह और डीजी इंटेलिजेंस भावेश कुमार सिंह ने मार्किंग के जरिए पुलिस कप्तानों की रैंकिंग तैयार की है। इस सूची मे लखनऊ जोन के किसी पुलिस कप्तान को जगह नहीं मिली है।

टॉप टेन रैंकिंग में मुरादाबाद को सबसे ज्यादा एनकाउंटर करने के लिए पहले पायदान पर जगह मिली है। दूसरे स्थान पर मुख्यमंत्री योगी का गृह जनपद गौरखपुर, तीसरे स्थान पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव का गृह जनपद इटावा, चौथे स्थान पर औरेया, पाँचवे स्थान पर गौतमबुद्ध नगर, छठे स्थान पर ललितपुर, सातवे स्थान पर कानुपर देहात, आठवे स्थान पर गोण्डा, नौवे स्थान पर चंदौली और दसवें स्थान पर मुज्जफर नगर को जगह मिली।

बात करे मुरादाबाद जिले की तो वेस्ट यूपी में अपराधियों की संख्या सबसे ज्यादा है। फिर भी यहा के तेजतर्रार व ईमानदार एसएसपी अमित पाठक ने अपराध व अपराधियों को जड़ से खत्म करने के प्रण ले रखा है। जिसकी वजह से जिले में अपराध अपने निम्न स्तर पर है। जिसकी मोहर अब तो सरकार भी लगा चुकी है।

मुरादाबाद जिले की कमान जब अमित पाठक ने संभाली और अपनी कार्यशैली से कार्य करना शुरू किया तो आम जनता को भी लगा कि जनपद में अब न्याय प्रिय अधिकारी जिले में कुछ अहम बदलाब जरुर करेंगे। जिसकी मुहर अब खुद सरकार के आंकड़ों ने लगा दी है। जिसमें पिछले छह महीने अर्थात 15 सितंबर तक के आंकड़ों के मुताबिक जहाँ जिले में कोई डकैती नहीं पड़ी तो लूट की भी सिर्फ चार वारदात सामने आई। जबकि इन गंभीर अपराधों का खुलासा शत प्रतिशत रहा है।

जिलें में सबसे बड़ी समस्या मुरादाबाद शहर का जाम था जिस पर खुद कप्तान अमित पाठक ने सडक पर उतरकर शहर को इस समस्या से भी निजात दिलाने का काम किया और इसके सार्थक परिणाम भी आये। किसी भी समस्या का मुस्करा कर सामना करना उनकी पहचान है जिसमें आज जनपद को प्रदेश में पहला स्थान दिलाया है। बात चाहे एसएसपी एसटीएफ के समय की हो आगरा जैसे बड़े महानगर में तैनाती के दौरान की, जहाँ रहे अपना एक अलग मुकाम हासिल करना इनकी फितरत में शामिल है।





Special Coverage News
Next Story
Share it