Breaking News
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुज्जफरनगर > मुजफ्फरनगर जेल में बंद रालोद समर्थकों से मिलने पहुंचे जयंत चौधरी, बोले- प्रशासन करे निष्पक्ष कार्रवाई

मुजफ्फरनगर जेल में बंद रालोद समर्थकों से मिलने पहुंचे जयंत चौधरी, बोले- प्रशासन करे निष्पक्ष कार्रवाई

जयंत चौधरी ने प्रशासन से सत्ता के दबाव में आने के बजाय निष्पक्ष कार्रवाई करने की नसीहत दी

 Special Coverage News |  4 Aug 2019 1:20 PM GMT  |  दिल्ली

मुजफ्फरनगर जेल में बंद रालोद समर्थकों से मिलने पहुंचे जयंत चौधरी, बोले- प्रशासन करे निष्पक्ष कार्रवाई

मुजफ्फरनगर : राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष तथा पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने आज मुजफ्फरनगर पहुंचकर लोकसभा चुनाव के दौरान नूनाखेडा में चारु चौधरी के रोड शो के दौरान भाजपा समर्थकों के साथ हुई मारपीट के मामले में जेल गए रालोद कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इस दौरान जयंत चौधरी ने प्रशासन से सत्ता के दबाव में आने के बजाय निष्पक्ष कार्रवाई करने की नसीहत दी। साथ ही सत्ता पक्ष के लोगों से बदले की भावना से काम कर करने के लिए भी कहा।

लोकसभा चुनाव मे चारू चौधरी के रोड शो के दौरान नूनाखेडा गांव में रालोद और भाजपा प्रत्याशी समर्थकों के बीच हुई मास्‍््पीट के मामले में जेल गए नौ रालोद समर्थकों नूनाखेडा निवासी राजीव बालियान, छोटा बालियान, महेश बालियान, अरुण बालियान, अंकुर बालियान, राजकुमार बालियान, टीनू बालियान, कृष्णपाल बालियान, बिटट्ू बालियान से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयन्त चौधरी ने मुलाकात की और कार्यकर्ताओं का श्रावण माह का तोहफा घेवर खिलवाया।

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयन्त चौधरी ने जेल के बाहर पत्रकारों से बातचीत भी की। उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश मे कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही रह गई है। एक के बाद एक हो रहे अपराधों ने प्रदेश मे कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। सोनभद्र व उन्‍नाव की घटनाएँ इसका उवाहरण हैं। सत्ता पक्ष द्वारा बदले की भावना से काम किया जा रहा है, जो कि उचित नही है।

जयंत चौघरी ने कहा कि चुनाव के दौरान कुछ घटनाएँ हुई हैं, जो कि प्रशासन की कमी से हुई है। उन्होने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान स्टार प्रचारकों को कोई सुविधा नहीं दी गई, जबकि यह प्रशासन की जिम्मेदारी थी कि उचित व्यवस्था सुनिश्चित करे। उनके साथ दो पुलिसपाले भी नही चल रहे थे, यदि पुलिस साथ होती तो कोई मामला ना होता। उन्होने कहा कि प्रशासन कहीं ना कहीं दबाव मे है, तभी इस प्रकार की कार्यवाही की गई है। उन्होने कहा कि मै अधिकारियों से भी कहना चाहता हूं कि वे संविधान की रक्षा करें, सत्ता पक्ष के पक्षपात का हिस्सा न बने, पक्षपात ना करें। अनैतिक दबाव के चलते ही यह सब हुआ है, जो कि अनुचित है। ये सभी बालियान गांव के किसान भिरादरी के लोग है, जो जेल में बन्द है। ये सब हमारे बहुत ही हिम्मत वाले लोग हैं ये हमारे साथी हैं, हमारी जिम्मेदारी हैं इसीलिए मैं इनसे मिलने के लिए इनका हाल जानने के लिए आया हू। जंयत चौपरी ने कहा कि सत्ता पक्ष को जनसेवा से जुड़ें कार्यो की और ध्यान देना ग्राहिएं।

जिला कारागार की व्यवस्था के सम्बन्ध मे पूछे गए सवाल के जवाब मे उन्होने कहा कि जेल की व्यवस्था ठीक ही हैं। हमे न्यायपालिका पर पूरा नरोसा है। हम कानून मे विश्वास रखने वाले लोग हैं। बडा दिल व बडी सोच रखते हैं। देश की कानून व्यवस्था ये है कि दुष्कर्म के आरोपी विधायक को भाजपा नेताओं द्वारा बेचारा बताया जा रहा है। इस दौरान उनके साथ जिलाध्यक्ष अजित राठी. पूर्व मंत्री योगराज सिंह, वरिष्ठ नैता चन्द्रवीर सिह एड, अशोक बालियान एड., पराग चौधरी आदि अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top