Home > नोएडा : UP पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए बदमाश के शव को लेने से परिवार का इंकार

नोएडा : UP पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए बदमाश के शव को लेने से परिवार का इंकार

पुलिस अब खुद बदमाश के शव का अंतिम संस्कार करेगी।

 Arun Mishra |  2018-02-21 02:59:07.0  |  दिल्ली

नोएडा : UP पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए बदमाश के शव को लेने से परिवार का इंकारसोमवार रात हुई मुठभेड़ में संजय मारा गया था..(Photo : HT)

नोएडा : ग्रेटर नोएडा में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाश संजय का शव मंगलवार को परिजनों ने लेने से इनकार कर दिया। पुलिस अब खुद बदमाश के शव का अंतिम संस्कार करेगी। संजय कुख्यात बदमाश था। परिजन और ग्रामीण उससे परेशान थे।

ज्ञात हो संजय ने फोन से भाजपा नेता पुष्कर ¨सह से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। जिसके बाद से पुलिस उसकी गिरफ्तारी के प्रयास में लगी थी। सोमवार रात हुई मुठभेड़ में संजय मारा गया था। संजय का एक साथी मौके से फरार हो गया था। घटना में पुलिस के दो जवान भी घायल हुए थे।
पुलिस की जांच में सामने आया कि करनाल का संजय रंगदारी की कॉल कर रहा है। डीएसपी अनित कुमार ने बताया कि सोमवार की रात संजय अपने साथी के साथ पीड़ित से रंगदारी वसूलने की नियत से यहां आया था। कासना कोतवाली पुलिस और एंटी एक्सटोर्सन सेल की टीम ने उसे घेर लिया। पुलिस मुठभेड़ में संजय मारा गया। उसका साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया।
पुलिस को मौके से एक बाइक, मोबाइल फोन और दो पिस्टल मिली थी। बदमाश की जेब में मिले आधार कार्ड से पुलिस ने उसकी पहचान की। पुलिस ने मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया। इसके बाद परिजनों से संपर्क कर शव सौंपने के लिए उन्हें बुलाया गया लेकिन परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया।
पंचायत में फैसलागांव में मंगलवार को सरपंच विक्रम सिंह के घर पंचायत हुई जिसमें ग्रामीणों ने शव नहीं लेने का फैसला लिया। पुलिस ने सरपंच और परिजनों से बात कर शव सौंपने का प्रयास किया लेकिन सहमति नहीं बनी। दरअसल, परिजन और ग्रामीण संजय से त्रस्त थे। पुलिस का दावा गांव में पांच लोगों को मारा। ग्रेटर नोएडा पुलिस का दावा है कि संजय का गांव में काफी खौफ था। उसने गांव के पांच लोगों की हत्या की थी लेकिन पीड़ित परिवार उसके खिलाफ पुलिस के पास जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाता था। इसके चलते उसके हौसले बुलंद थे।

Tags:    
Share it
Top