Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा के बेलगाम स्कूलों के खिलाफ चला जिला प्रशासन का डंडा

नोएडा के बेलगाम स्कूलों के खिलाफ चला जिला प्रशासन का डंडा

 Special Coverage News |  21 April 2019 10:32 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा के बेलगाम स्कूलों के खिलाफ चला जिला प्रशासन का डंडा
x

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। निजी स्कूलों द्वारा मनमाने तरीके से फीस बढ़ाने के मामले आये दिन सुनने को मिलते है कि आज उस स्कूल ने फीस बढ़़ा दी कल दूसरे ने।इस शिकायत को लेकर उग्र हुये अभिभावकों ने कुछ दिनों से सड़कों पर डेरा जमा रखा था। जिलाधिकारी गौतमबुद्ध नगर ने मामला को गंभीरता से लेते हुये एपीजे स्कूल पर पांच लाख व कैंब्रिज स्कूल पर एक लाख का जुर्माना लगाया है।जबकि रॉयन स्कूल को एक दिन की मोहलत देकर छोड़ा।


जिलाधिकारी बीएन सिंह ने कैंप आफिस में आयोजित प्रेसवार्ता में सभी स्कूलों को चेतावनी दी कि अगर 24 घंटे में बढ़ी फीस वापस नही की तो उनके खिलाफ प्रदेश सरकार के माध्यम से सीबीएसई को पत्र लिखकर मान्यता खत्म कराने की मांग की जाऐगी।उन्होंने बताया कि अभिभावकों द्वारा जिले के नामी स्कूलों के खिलाफ मध्य शैक्षिक सत्र में फीस बढ़ाने की शिकायत दी गई थी।कई स्कूलों ने गलत तरीके से फीस बढ़ाकर नियमों की अनदेखी की। कई स्कूलों जैसे ग्रेटर नोएडा व नोएडा के डीपीएस, रियान, कैंब्रिज,खेतान,बिल्लाबांग, कोठारी,फादर एग्नल,मॉर्डन की शिकायत आने के बाद अब प्रशासन कारर्वाइ का मन बना चुका है। फीस समिति द्वारा इसकी जांच की जा रही है।


गलत तरीके से फीस बढ़ाने वाले स्कूलों को चेतावनी दी गई है कि 24 घंटे में फीस वापस करके समिति को सूचना दें।अगर ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। एपीजे ने समिति के नियमों की अवहेलना की इसलिए ही एपीजे स्कूल पर 1 लाख की जगह 5 लाख रुपये का जुर्माना किया गया।फीस बढ़ोतरी के खिलाफ आंदोलन कर रहे अभिभावकों से शांति व्यवस्था खराब होने की समभावना को देखते हुये जिलाधिकारी ने साफ कर दिया है कि अगर ऐसा होता है तो स्कूल प्रबंधन के खिलाफ और सख्त कार्रवाई होगी।साथ ही अभिभावकों से भी कहा गया है कि वह शांति व्यवस्था बनाए रखें।


ऑल नोएडा स्कूल पेरन्टस एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि वो जिलाधिकारी की कार्रवाई से संतुष्ट हैं और आगे भी इसी तरह की कार्रवाई की उम्मीद करते हैं।इस दौरान यतेन्द्र कसाना,अरूण,मनोज कटारिया समेत काफी अभिभावक मौजूद रहे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it