Top
Begin typing your search...

गौरव चंदेल मर्डर नोएडा : प्रियंका गांधी और मायावती ने योगी सरकार को घेरा

नोएडा में हुए गौरव चंदेल मर्डर केस में अबतक पुलिस के हाथों कुछ नहीं लगा है।

गौरव चंदेल मर्डर नोएडा : प्रियंका गांधी और मायावती ने योगी सरकार को घेरा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा : गुड़गांव की निजी कंपनी के रीजनल मैनेजर गौरव चंदेल मर्डर केस में अबतक पुलिस के हाथों कुछ नहीं लगा है। इस बीच मामले पर राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। रविवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और बीएसपी प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया।

मायावती ने लिखा, 'नोएडा में गौरव चंदेल की हत्या के मामले में भी लीपापोती व सरकारी उदासीनता के कारण वहां पूरे क्षेत्र में जन आक्रोश लगातार बढ़ता ही जा रहा है। यूपी सरकार खासकर अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में इस प्रकार की लापरवाही को छोड़कर जनहित पर समुचित ध्यान दे तो यह बेहतर होगा।'

इससे पहले प्रियंका गांधी ने लिखा था कि, 'प्रबंधक के पद पर काम करने वाले गौरव चंदेल जी की नोएडा में अपराधियों ने हत्या कर दी थी। लूट-पाट के बाद हुई हत्या में सरकार की कार्रवाई अभी तक ढीली-ढाली ही है।' प्रियंका ने आगे लिखा था कि नोएडा जैसे लोकेशन पर अगर अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं तो पूरे यूपी में क्या स्थिति होगी? गौरव चंदेल जी के परिवार को न्याय जल्द से जल्द मिलना चाहिए। इसके साथ प्रियंका ने एक विडियो भी शेयर किया, जिसमें गौरव का बेटा पिता के लिए न्याय मांग रहा था।



क्या है मामला

ग्रेनो वेस्ट की गौड़ सिटी में रहने वाले रीजनल मैनेजर गौरव चंदेल की सोमवार रात ऑफिस से लौटते समय पर्थला गोल चक्कर से करीब एक किमी आगे बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। बदमाश गौरव की किया सेल्टॉस गाड़ी, दो मोबाइल, लैपटॉप और पर्स लूटकर ले गए हैं। घटना वाली रात को पुलिस पर परिजनों ने गौरव को खोजने में मदद नहीं करने का आरोप लगाया। गौरव की बॉडी मंगलवार तड़के करीब 4:30 बजे खुद परिजनों ने खोजी थी। हत्याकांड की जांच के लगी टीमों को अंदेशा था कि बदमाश गौरव के मोबाइल फोन को मौके के आसपास ही फेंका है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it