Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > एसएसपी के कुशल नेतृत्व में आईपीएस विनीत जायसवाल की मुहिम लाई रंग, नोएडा में बंटने लगे रेड कार्ड

एसएसपी के कुशल नेतृत्व में आईपीएस विनीत जायसवाल की मुहिम लाई रंग, नोएडा में बंटने लगे रेड कार्ड

 Special Coverage News |  9 July 2019 3:51 AM GMT  |  नोएडा

एसएसपी के कुशल नेतृत्व में आईपीएस विनीत जायसवाल की मुहिम लाई रंग, नोएडा में बंटने लगे रेड कार्ड
x

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा। एसएसपी वैभव कृष्ण उन महिलाओं व युवतियों के लिए किसी फरिश्ते से कम नही जिनको आये दिन समाज में मनचलों के द्वारा परेशान किया जाता। ये एसएसपी के कुशल नेत्रत्व का ही परिणाम है कि आये दिन ऐसे लोगों को चिन्हित करके रेड कार्ड दिया जा रहा है। आपको बता दे कि एसएसपी के आदेश पर रेड कार्ड अभियान चालू किया। रेड कार्ड के जरिये महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध पर लगाम लगाने के लिए नोएडा पुलिस ने नई पहल की है जिसका नाम है रेड कार्ड।

इसके तहत अब नोएडा पुलिस सार्वजनिक जगहों पर महिलाओं का उत्पीड़न करते पाये गये दोषियों को पहले चेतावनी स्वरूप 'लाल कार्ड' जारी करेगी।इसके बाद भी अगर वे ऐसी गतिविधि में लिप्त पाये जाते हैं तो उनके खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की जायेगी।यह 'रेड कार्ड' सार्वजनिक जगहों पर सादे कपड़ों में तैनात एंटी रोमियो स्क्वायड जारी करेगा।एंटी रोमियो स्क्वायड में महिला एवं पुरूष कांस्टेबल दोनो होते है।इसी क्रम में सोमवार को नोएडा पुलिस द्वारा नोएडा के विभन्न स्थानों में चैकिंग अभियान चलाया गया।

आपको ज्ञात करना चाहते है कि नोएडा पुलिस की टीमों द्वारा पिछले एक सप्ताह में कुल 165 शिक्षण संस्थानों में भ्रमण कर छात्राओं को 1090 वीमेन पावरलाइन ,डायल 100 ,एन्टी रोमियो स्क्वाड आदि के संबंध में जागरूक किया गया।इन सभी शिक्षण संस्थानों में लगभग 8600 फीडबैक फॉर्म भरवाए गए ,जिनके आधार पर अभी तक कुल 275 स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां एन्टी रोमियो स्क्वाड विशेष ध्यान दे रहा है।

अभी तक एन्टी रोमियो स्क्वाड द्वारा छात्राओं के फीडबैक द्वारा चिन्हित स्थानों पर तथा पब्लिक बसों में मनचलों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए कुल 70 व्यक्तियों को रेड कार्ड जारी किये गए हैं। जिनकी जानकारी( नाम , पता ,फ़ोन नंबर इत्यादि )टीम द्वारा एक रजिस्टर में निर्धारित प्रारूप में भरा गया है तथा रेड कार्ड जारी करते हुए उस व्यक्ति की फ़ोटो भी खींची गयी है। जिसके बाद उस व्यक्ति पर दोबारा ऐसी हरकत ना करने का मनोवैज्ञानिक दबाव रहेगा। नोएडा पुलिस के इस सकारात्मक प्रयास को स्कूल/कॉलेज की छात्राओं/महिलाओं द्वारा काफी सराहना मिल रही है।





Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it