Top
Begin typing your search...

दादरी के अखलाक की बेटी का हुआ निकाह, बिसाहड़ा गांव के लोगों को नहीं भेजा न्योता

दादरी के अखलाक की बेटी का हुआ निकाह, बिसाहड़ा गांव के लोगों को नहीं भेजा न्योता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा. यूपी के ग्रेटर नोएडा के बिसाहड़ा गांव के बहुचर्चित अखलाक हत्याकांड के बाद उनके परिवार में रविवार को एक खुशी का मौका आया. अखलाक की बेटी शाइस्ता की शादी दिल्ली संगम विहार के सिविल इंजीनियर महमूद आलम सैफी से हुई. बता दें कि अखलाक हत्याकांड में शाइस्ता गवाह है. अखलाक के भाई जान मोहम्मद व उनके परिवार ने शाइस्ता की शादी गाजियाबाद जिले में स्थित मुरादनगर के रास गार्डन में की, लेकिन वह पैतृक गांव बिसाहड़ा में परिचितों को निकाह का न्योता नहीं दिया.

अखलाक के भाई जान मोहम्मद ने बताया कि घटना के बाद से वह बिसाहड़ा गांव नहीं जा पाए हैं. भाई के के मौत के बाद से ही उनका परिवार गांव के बाहर रह रहा है. जान मोहम्मद के मुताबिक शाइस्ता की उम्र अखलाक की हत्या के दौरान लगभग 19 वर्ष की थी और वह केस में गवाह भी है. बिसाहड़ा से अभी भी उनके पास किसी भी आयोजन आदि के निमंत्रण आते हैं, लेकिन वह भाई की हत्या के बाद से वहां नहीं गए हैं और न ही शाइस्ता के निकाह का न्योता वह बिसाहड़ा में किसी को दे पाए.

बहुचर्चित अखलाक हत्याकांड के केस में संबंध में उन्होंने बताया कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है. दूसरे केस में अभी पुलिस जांच कर रही है. दरअसल सिंतबर, 2015 में अखलाक को घर में बीफ रखने के संदेह में पीट-पीटकर मार डाला गया था. इस मामले के सभी आरोपी फिलहाल जमानत पर हैं.

Special Coverage News
Next Story
Share it