Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा पुलिस ने किया डबल मर्डर केस का खुलासा, आरोपी भी भेजे जेल

नोएडा पुलिस ने किया डबल मर्डर केस का खुलासा, आरोपी भी भेजे जेल

 Special Coverage News |  7 Aug 2019 10:22 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा पुलिस ने किया डबल मर्डर केस का खुलासा, आरोपी भी भेजे जेल
x

नोएडा में 3.अगस्त .2019 को थाना रबूपुरा क्षेत्र में रात नौ बजे 2 व्यक्तियों नरेश पाल पुत्र रमेश चन्द्र निवासी खेडा थाना रबूपुरा व असलम पुत्र जहांगीर निवासी तिर्थली थाना रबूपुरा की गुमशुदगी की दर्ज कराइ गई. जिसमें यह भी बताया गया था कि थाना दनकौर क्षेत्र में उपरोक्त दोनो गुमशुदा व्यक्तियों की ट्रैक्टर ट्राली खडी पायी गयी है. यह जानकारी मृतक नरेश के भाई मुकेश चन्द्र द्वारा दी गयी.

इस घटना की जांच थाना प्रभारी रबूपुरा द्वारा की गयी, जिसमें 4.अगस्त .2019 को मृतक के भाई मुकेश चन्द्र द्वारा सूचना दी की उक्त दोनो गुमशुदा का अपहरण किया गया है. इस सूचना पर यह केस अपहरण के धाराओं में तरमीम कर दिया गया. इस घटना में 4 अभियुक्त शफीक पुत्र अलीम निवासी धनपुरा थाना रबूपुरा, मुज्जमल पुत्र शमशाद निवासी ग्राम मेंहदीपुर थाना रबूपुरा, कलुआ पुत्र बाबू निवासी तिर्थली थाना रबूपुरा, सलमान पुत्र फत्ता निवासी ग्राम मंेहदीपुर थाना रबूपुरा के नाम प्रकाश में आये. जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

क्यों की गई यह घटना

घटना का क्रम इस प्रकार पाया गया कि शफीक पुत्र हबीब निवासी तिर्थली ने अपने भांजे शफीक पुत्र अलीम निवासी धनपुरा थाना रबूपुरा को अपना ट्रैक्टर किराये पर चलाने हेतु दिया था. परन्तु उक्त शफीक के भांजे शफीक पुत्र अलीम की गतिविधियां सही नही थी. यह अपराधिक और संदेहास्पद गतिविधियों में संलिप्त रहता था. जिक्से चलते 2 बार पूर्व में जेल भी जा चुका है एवं जनपद बदायूँ में एक महिला के पास संदेहास्पद रूप से इसका आना जाना भी था. जिसको मामा शफीक के द्वारा मना किया जाता था. इस कारण से भांजे शफीक को ड्राईवरी से हटाकर इसके स्थान पर नरेश पुत्र रमेश चन्द्र निवासी ग्राम खेडा थाना रबूपुरा को ड्राईवरी पर रखा था. इसी रंजिश को लेकर शफीक पुत्र अलीम मृतक नरेश से रंजिश रखता था.

नरेश एवं असलम 31.जुलाई .2019 को अपने ट्रैक्टर पर भूसा बेचने बल्लभगढ गये थे. जो 1.अगस्त .2019 को भूसा बेचने के उपरान्त अपने घर लौटते समय नरेश एवं असलम की धारदार हथियारों से उपरोक्त चारो अभियुक्तों ने हत्या कर दी थी तथा भूसा बेचकर मिले 25000 रूपये भी अपने साथ ले गये थे. शवो को छिपाने के उददेश्य से अभियुक्तों द्वारा शवो को ग्राम मेंहदीपुर व चण्डीगढ के बीच के जंगल में डाल दिया गया था.

थाना प्रभारी रबूपुरा ने उपरोक्त अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्तगण की निशादेही पर ग्राम मेंहदीपुर व चण्डीगढ के बीच के जंगल से मृतकों के शव बरामद किये गये हैं तथा अभियुक्त शफीक व कलुआ की निशादेही पर आला कत्ल बरामद किये गये हैं। अभियुक्तों के कब्जे से मृतकों के 15000 रूपये बरामद हुए हैं, शेष 10000 रूपये अभियुक्तगण द्वारा खर्च कर लिये गये हैं. उक्त घटना के सम्बन्ध में पूर्व मे दर्ज मुकदमे को धारा 302/201 भादवि में तरमीम किया गया है.

उक्त मृतकों के शव बुधवार को जंगल से बरामद होने के तुरंत बाद ही केस के सभी आरोपी जेल भेज दिए गए. इस केस को शव बरामद होने के कुछ घंटे में ही केस का खुलासा कर सभी आरोपी जेल भेज पुलिस की बड़ी कामयाबी रही. जिस तरह से इस केस को आरोपियों द्वारा अंजाम दिया वो बहुत ही ब्लाइंड था लेकिन पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़कर केस खोल दिया.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it