Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा: थाना-20 पुलिस पर एक युवक ने लगाये गंभीर आरोप, जांच में खुली युवक की पोल

नोएडा: थाना-20 पुलिस पर एक युवक ने लगाये गंभीर आरोप, जांच में खुली युवक की पोल

नोएडा पुलिस पर लगाये आरोपों की खुली पोल

 Shiv Kumar Mishra |  30 Dec 2019 5:30 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा: थाना-20 पुलिस पर एक युवक ने लगाये गंभीर आरोप, जांच में खुली युवक की पोल
x

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। पुलिस विभाग एक ऐसा विभाग जिसपर कानून-व्यवस्था को बनाए रखने की जिम्मेवारी होती है पर सबसे अधिक सवाल पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठते रहे हैं।लेकिन क्या ये उचित है?पुलिस की दिनचर्या की बात करे तो पुलिसकर्मी अपनी व्यस्त दिनचर्या में सुबह से लेकर देर रात तक काम में लगे रहते है। काम के अत्यधिक दबाव और अनियमित खानपान से अनेकों समस्याए हो जाती है। लेकिन फिर भी लोग पुलिस पर आरोप लगाने से नही चुकते। इसी क्रम में एक मामला थाना-20 का प्रकाश में आया। जिसमें एक युवक ने थाना पुलिस के ऊपर मारपीट व पैसे लेने का आरोप लगाया।

आपको बता दे कि दिनांक 29.12.2019 को सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति का वीडियो वायरल हो रहा था जिसमें थाना सैक्टर-20 के कर्मचारियों द्वारा की गयी अभद्रता व पैसे लेने की बात की जा रही थी। इसको गंभीरता से लेते हुये एसएसपी वैभव कृष्ण ने मामले में क्षेत्राधिकारी नगर प्रथम को जांच के आदेश दिये। जांच के दौरान पता चला कि थाना-20 की टीम को सौरभ उर्फ गोली निवासी खोडा जिला गाजियाबाद नामक व्यक्ति,जो पूर्व में कई बार चैन स्नैचिंग में जेल जा चुका है, के द्वारा सूचना दी गयी थी कि खोडा के ही रामू व नवीन के पास पिस्टल है तथा इनके द्वारा हाल ही में खोडा में ही एक स्थान पर फायरिंग की गयी है।

ऐसा भी आरोप है कि नवीन द्वारा खोडा क्षेत्र में ही जुआ व सटटे का अवैध कारोबार बडे पैमाने पर किया जाता है।इस सम्बन्ध में थाना सैक्टर-20 की टीम द्वारा रामू व नवीन को पूछताछ हेतु थाना सैक्टर-20 लाया गया था। नवीन को जब टीम द्वारा अपनी गाडी में बैठाने का प्रयास किया जा रहा था उसी समय उसको कुछ चोटें भी आयी थी।वीडियो में जिस अंगुली में नवीन द्वारा चोट बतायी जा रही है उसी अंगुली में पहले भी उसे चोट लग चुकी है यह बात उसके द्वारा स्वंय टीम को बतायी गयी थी और यह भी बताया गया था कि उसका ईलाज पहले त्रिपाठी अस्पताल में चल रहा था। पूर्व में लगी चोट तथा गाडी में बैठते समय उसी अंगुली में चोट लग जाने के कारण नवीन को काफी दर्द हो रहा था,पुलिस द्वारा उसे अस्पताल ले जाकर ईलाज कराया गया व दर्द का इन्जेक्शन भी लगवाया गया। टीम के ही एक सदस्य द्वारा नवीन को कुछ रूपये देकर घर जाने में मदद भी की गयी।इस प्रकार थाना सैक्टर-20 पर लगभग दो घंटे की पूछताछ में नवीन व रामू के पास पिस्टल न होने की बात स्पष्ट होने पर टीम द्वारा उसे छोड दिया गया था।

एसएसपी ने बताया कि उक्त वायरल वीडियो के सम्बन्ध में जब नवीन से सम्पर्क कर पूछताछ करने की कोशिश की गयी तो उसका मोबाइल नम्बर बन्द आ रहा है। नवीन के पिता से सम्पर्क किया गया है उसके द्वारा बताया गया कि उन्हे ऐसी किसी बात की जानकारी नही है। चूंकि अभी तक नवीन से सम्पर्क नही हो सका है। अतः सम्पर्क स्थापित होने पर ही विस्तृत स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it