Top
Begin typing your search...

एसएसपी नोएडा की सबसे बड़ी कार्यवाही, सुंदर भाटी का भतीजा अनिल भाटी समेत गैंग के तीन लोग गिरफ्तार

एसएसपी नोएडा की सबसे बड़ी कार्यवाही, सुंदर भाटी का भतीजा अनिल भाटी समेत गैंग के तीन लोग गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेंद्र अवाना नोएडा। अपराध व अपराधियों के खिलाफ लगातार हो रही कारवाई में पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है।इसी क्रम में थाना ईकोटेक प्रथम पुलिस व स्टार-2 टीम ने संयुक्त रूप से मिलकर सुन्दर भाटी गैंग के तीन 25,000 रुपये इनामी शातिर बदमाशों को पकड़ा है।

जो जिले में स्थित कंपनियों के प्रबंधकों को धमकाकर उनसे रंगदारी वसूलने तथा ट्रांसपोर्ट,पानी,स्क्रैप के ठेके लेते थे।आपको बता दे कि एसएसपी के आदेश पर जिलें में अपराध को कम करने के उपदेश से हर थाना क्षेत्र में अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है।

इसी क्रम में ईकोटेक प्रथम पुलिस व स्टार-2 टीम ने संयुक्त रूप से मिलकर गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।पकड़े गये अभियुक्तों की पहचान सुमित भाटी निवासी लडपुरा ग्रेटर नोएडा,अनिल भाटी निवासी खानपुर ग्रेरर नोएडा और प्रवीन निवासी देवला ग्रेटर नोएडा के रुप में हुयी।

वही चार वाछिंत अभियुक्तों सुंदर भाटी,शेरू भाटी,दिनेश निवासी घंघोला ग्रेटर नोएडा और मोहित भाटी निवासी खानपुर ग्रेटर नोएडा की तलाश जारी है।अभियुक्तों के कब्जे से एक फारचूनर गाड़ी,एक स्कारपियों गाड़ी,रंगदारी से प्राप्त 40,000 रूपये,एक देशी पिस्टल,तीन जिन्दा कारतूस,10 आईसर कैटर और 6 मोबाईल फोन बरामद हुये।गौतमबुद्ध नगर के तेज तर्रार एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि ईकोटेक- प्रथम थाना क्षेत्र में स्थित जूवलाइन फूड लिमिटेड कंपनी की तरफ से पुलिस में शिकायत की गई कि बदमाश सुंदर भाटी का भतीजा अनिल भाटी और उसके साथी उनसे रंगदारी की मांग कर रहे हैं तथा उनकी कंपनी में जबरन ट्रांसपोर्ट का ठेका हासिल कर, अपने लोगों की बसें चलवा रहे हैं।

सूचना के आधार पर पुलिस ने जांच की तो पता चला कि इस समय भाटी के गिरोह का संचालन उसका भतीजे अनिल भाटी, सुमित भाटी और प्रवीण भाटी कर रहे है।तीनों आभियुक्तों को सोमवार को पुलिस का गिरफ्तार किया है।जबकि सुंदर भाटी अभी जेल में बंद है।उन्होंने बताया कि इन लोगों के पास से अवैध हथियार बरामद किए गए हैं।अभियुक्तों से पूछताछ के दौरान कुछ पुलिस अधिकारी, कर्मियों,नेताओं और अन्य लोगों के नाम सामने आए हैं,जो भाटी गिरोह को परोक्ष रूप से सहयोग देते हैं और उसके एवज में गिरोह के लोग उन्हें मोटी रकम देते है।

अनिल भाटी भाजपा नेता शिव कुमार यादव की हत्या के मामले में कुछ दिन पूर्व ही जेल से जमानत पर छूटा है।उस पर रासुका के तहत भी कार्रवाई की गई थी।सूत्रों की माने तो सुंदर भाटी जेल से ही अपनी सारे गैंग को संचालित कर रहा है।

Special Coverage News
Next Story
Share it