Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > एसएसपी ने की जिले में वादी दिवस शुरुआत, जानिए क्या क्या होगा ख़ास इस वादी दिवस में!

एसएसपी ने की जिले में वादी दिवस शुरुआत, जानिए क्या क्या होगा ख़ास इस वादी दिवस में!

 Special Coverage News |  26 April 2019 11:29 AM GMT  |  नोएडा

एसएसपी ने की जिले में वादी दिवस शुरुआत, जानिए क्या क्या होगा ख़ास इस वादी दिवस में!
x

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने आज थाना सूरजपुर पर वादी दिवस का आयोजन किया. जिसमें काफी संख्या में बिभिन्न मामलों के वादी और आवेदक उपस्थित थे. वहां पर उनके प्रकरणों से सम्बन्धित विवेचक एवं जाॅचकर्ता अधिकारियों को थाने पर बुलाकर समीक्षा की गयी.




एसएसपी ने वादी दिवस की शुरुआत आज पहले दिन थाना सूरजपुर में की. जिसमें कई मामलों के वादी और आवेदक बुलाये गये. जिसने उन प्रकरणों की और विवेचको से पूरी जानकारी लेकर उनको समझाया गया. उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्य करने से एक तो पुलिस और जनता की नजदीकियां बढती है दुसरे लंबित जांच भी जल्द से जल्द निपटाने के पुलिस का काम प्राथमिकता होती है.


एसएसपी ने बताया कि वादी दिवस का शुभारम्भ किया जा रहा है. जो कि प्रत्येक सप्ताह के बुद्धवार को नगर क्षेत्र के किसी भी सर्किल के थाने पर तथा शुक्रवार को ग्रामीण क्षेत्र के किसी भी सर्किल के थाने पर समय 12ः00 से 14ः00 बजे तक आयोजित किया जायेगा. यदि किसी "वादी दिवस" पर कोई सार्वजनिक अवकाश और कानून व्यवस्था अथवा किसी अन्य कारण से सम्भव नही हो पाता है तो अगले दिवस "वादी दिवस" का आयोजन किया जायेगा.


वादी दिवस में निम्नलिखित मामलों की समीक्षा की जायेगी:-

➡ जनता दर्शन से सम्बन्धित थानों पर भेजे जाने वाले शिकायती प्रार्थना पत्रों के मामले।

➡ हत्या, लूट (सभी प्रकार की स्नैंचिगं, कैश लूट, ज्वैलरी, वाहन लूट आदि), संवेदनशील चोरी/नकबजनी ( 05लाख से अधिक धनराशि की चोरी/नकबजनी) से सम्बन्धित मामले।

➡ बरामदगी को शेष अपह्त/अपह्ता से सम्बन्धित धारा 363/364/365 आई0पी0सी0 के अभियोगों से सम्बन्धित मामले।

➡ महिला सम्बन्धित अपराधों की विवेचना जो कि 03 माह से अधिक समय से विवेचनाधीन है से सम्बन्धित मामले।

➡ शरीर सम्बन्धित अपराधों (धारा 307/324/325/304/306 आई0पी0सी0) की 03 माह से अधिक समय से लम्बित मामले।

➡ धोखाधडी सम्बन्धित अपराधों (धारा 406/420/467/468/471 आई0पी0सी0) की 03 माह से अधिक समय से लम्बित मामले।

"वादी दिवस" में वादी और आवेदको को तथा उनके प्रकरणों से सम्बन्धित विवेचक एवं जाॅचकर्ता अधिकारी को थाने पर बुलाकर समीक्षा की जायेगी. "वादी दिवस" में वादी और आवेदकों को तथा उनके प्रकरणों से सम्बन्धित विवेचक व जाॅचकर्ता अधिकारियों को उपस्थित कराने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रभारी निरीक्षक की होगी.

बता दें कि एसएसपी वैभव कृष्ण पहले भी अन्य जनपदों में अपनी तैनाती के दौरान इस तरह के प्रयोग करते रहे है. गाजियाबाद जिले में तैनाती के दौरान वादी दिवस और परी दिवस की आज भी चर्चा होती है, साथ ही ऑपरेशन आल आउट समेत कई बड़े चेकिंग अभियान भी सम्मिलित रहते है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it