Top
Begin typing your search...

यूपी पुलिस का सबसे अत्याधुनिक साइबर सेंटर बनेगा नोएडा में - आईजी आलोक कुमार

यूपी पुलिस का सबसे अत्याधुनिक साइबर सेंटर बनेगा नोएडा में - आईजी आलोक कुमार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। प्रदेश का सबसे अत्याधुनिक साइबर सेंटर नोएडा में स्थापित होगा।सेक्टर 94 स्थित प्राधिकरण के कमांड कंट्रोल बिल्डिंग में इसके लिए दफ्तर बनाया जा रहा है।उत्तर प्रदेश पुलिस के हर विंग को साइबर अपराध के जटिल मामलों की जांच में मदद के अलावा प्रदेश में साइबर अपराध को रोकने के लिए यहां बैठे विशेषज्ञ अत्याधुनिक तरीके से काम करेंगे। इस सेंटर के जरिये जटिल केसों की जांच के अलावा ट्रेनिंग की भी सुविधा होगी।

साइबर सेंटर को स्थापित करने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस के सीनियर पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया गया है। सेंटर स्थापित करने के लिए मल्टी नेशनल कंपनियां भी मदद कर रही हैं। इसी साल शुरू हो सकता हैं। इस साइबर सेंटर की स्थापना की तैयारी जोरों पर है। करोड़ों रुपये की लागत से बनने वाले इस सेंटर को इसी साल शुरू करने की तैयारी हैं। सेंटर के पास साइबर अपराध पर नकेल कसने के लिए हर प्रकार के अत्याधुनिक उपकरण होंगे।

यह सेंटर साइबर अपराध पर लगाम लगाने के लिए पुलिस, एसटीएफ, एटीएस, साइबर थाने को तकनीकी रूप से मदद करेगा व जटिल मामलों की जांच भी करेगा।वर्ष 2016 में नोएडा में सबसे अत्याधुनिक साइबर अपराध अन्वेषण केंद्र सीसीसीआइ बना था। तत्कालीन डीजीपी जावीद अहमद ने मई 2016 में सेक्टर 6 में बने केंद्र का उद्घाटन किया था। हालांकि नोएडा पुलिस के अंडर में संचालित होने वाले सीसीसीआई को पिछले दिनों सूरजपुर स्थित पुलिस कार्यालय में शिफ्ट किया जा चुका है।

मेरठ जोन के आईजी आलोक सिंह ने बताया कि सीएसआर फंड के जरिये यह साइबर सेंटर स्थापित किया जा रहा है। यहां साइबर फॉरेंसिक, मोबाइल फॉरेंसिक सहित अन्य ट्रेनिंग की भी सुविधा होगी।वीडियो कांफ्रेसिंग हॉल, लाइब्रेरी सहित अन्य सुविधाओं से लैस होगा। इसी वर्ष इसकी शुरुआत होने की उम्मीद है। एनसीआर में इस प्रकार के साइबर फ्रॉड के सबसे अधिक मामले फर्जी कॉल सेंटर के जरिये नौकरी, इंश्योरेंस सहित अन्य नाम पर ठगी बैंककर्मी बन लोगों से फोन पर जानकारी लेकर खाते से रकम ट्रांसफर कर ठगी एटीएमए डेबिट कार्ड क्लोन कर ठगी सोशल मीडिया से जुड़े फ्रॉड ईमेल, वेबसाइट हैकिंग, ईमेल स्पूफिंग कर ठगी पिछले दो वर्षो में साइबर थाने पहुंचे बड़े केस नोएडा में 16 लखनऊ में 22 वर्ष 2019 में जनवरी से सितंबर तक गौतमबुद्ध नगर में दर्ज हुए साइबर क्राइम के 12 सौ से अधिक मामले है ।

Special Coverage News
Next Story
Share it