Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा पुलिस ने थाना फेस-3 में हुए सामूहिक रेप का किया सनसनीखेज खुलासा, 36 घंटे में चार आरोपी गिरफ्तार

नोएडा पुलिस ने थाना फेस-3 में हुए सामूहिक रेप का किया सनसनीखेज खुलासा, 36 घंटे में चार आरोपी गिरफ्तार

कम समय में घटना का अनावरण करने वाली टीम के उत्साह वर्धन के लिए एसएसपी ने 25,000 रुपये नगद व प्रशस्ति पत्र की घोषणा की है।

 Special Coverage News |  15 Nov 2019 11:06 AM GMT  |  दिल्ली

नोएडा पुलिस ने थाना फेस-3 में हुए सामूहिक रेप का किया सनसनीखेज खुलासा, 36 घंटे में चार आरोपी गिरफ्तार

नोएडा (धीरेन्द्र अवाना) : अपराधियों के लिए काल बनकर जिले में आये गौतमबुद्ध नगर के तेज तर्रार व ईमानदार एसएसपी वैभव कृष्ण के कुशल नेतृव्य में नोएडा पुलिस को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है। नोएडा पुलिस ने ऐसे चार युवकों को पकड़ा है जिन्होंने दरिंदगी की हदे पार करके हुये एक युवती से साथ गैंगरेप किया। जबकि दो आरोपियों की तलाश की जा रही है।

आपको बता दें कि नोएडा के छिजारसी की रहने वाले युवती को दिनांक 13/11/2019 को रात करीब 9:30 बजे उसका दोस्त रवि नौकरी दिलवाने का झांसा देकर कोतवाली फैस-3 क्षेत्र में स्थित एक पार्क में बुलाया था। जहा रवि ने युवती से छेडछाड़ की। पीड़िता ने शोर मचा कर अपनी मदद के लिए आस पास के लोगों को बुलाने का प्रयास किया। आवाज सुन कर पहुचे दो व्यक्तियों ने रवि के साथ मारपीट करके उसे भगा दिया। उसके बाद दोनों ने अपने तीन अन्य साथियों को बुलाकर युवती के साथ गैंगरेप किया। फिलहाल पीड़िता को उपचार हेतू जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने मामले की गंभीरता को देखते हुये थाना फैस-3 व थाना -24 के पुलिस बल को मिलाकर चार टीमे बनाकर आदेश दिया कि मामले का निष्टारण जल्द से जल्द किया जाये। जिसके बाद पुलिस ने मुस्तेदी दिखाते हुये मात्र 36 घंटों में छः आरोपियों को पकड़ कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का कार्य किया है। आरोपियों की पहचान रवि निवासी ग्राम रसूकपुरएका हरदोई, ब्रजकिशोर निवासी बिहारीपुर बदांयू, पीताम्बर उर्फ प्रीतम निवासी ग्राम गोठ्ठा बदांयू और उमेश निवासी ग्राम कलैथा सम्भल के रुप में हुयी है।

जिनके कब्जे पीड़िता की चुन्नी, हवाई चप्पले, लेगिंग्स व अन्य वस्त्र बरामद हुये। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि छह युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर अब तक चार आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम ने दबिश दे रही हैं।

वही पीड़ित युवती की आर्थिक सहायता के लिए जिले के एसएसपी ने पहल करते हुये शासन को उत्तर प्रदेश रानी लक्ष्मीबाई महिला एंव बाल सम्मान कोष के लिए अनुमोदन किया है। कम समय में घटना का अनावरण करने वाली टीम के उत्साह वर्धन के लिए एसएसपी ने 25,000 रुपये नगद व प्रशस्ति पत्र की घोषणा की है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top