Top
Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कोलकाता > ममता लाईं बंगलादेश से कलाकार फिर्दोष को प्रचार के लिए, तो क्या हुआ बंगाल में जानिए पूरी रिपोर्ट!

ममता लाईं बंगलादेश से कलाकार फिर्दोष को प्रचार के लिए, तो क्या हुआ बंगाल में जानिए पूरी रिपोर्ट!

 Special Coverage News |  16 April 2019 12:46 PM GMT  |  दिल्ली

ममता लाईं बंगलादेश से कलाकार फिर्दोष को प्रचार के लिए, तो क्या हुआ बंगाल में जानिए पूरी रिपोर्ट!
x

प्रथ्वीसदास गुप्ता

लोकसभा चुनाव की दूसरे चरण के चुनाव 18 तारीख देश के साथ साथ बंगाल में भी तीन लोकसभा क्षेत्र में चुनाव है. जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, रायगंज में पहली दफा चुनाव के बाद बंगाल की विरोधी पार्टियों ने चुनाव आयोग के पास दावा किया था. कि 100% मतदान केंद्र में केंद्रीय सेना बल तैनात होनी चाहिए. जिसके लिए बंगाल की भाजपा ने राज्य चुनाव आयोग के दफ्तर में भी धरना प्रदर्शन किया पर दूसरी दफा चुनाव की 48 घंटा पहले चुनाव आयोग ने स्पष्ट रूप से घोषित कर दिया है कहीं पर भी 100% सेना नियुक्त नहीं हो सकता है.


चुनाव आयोग ने 195 कंपनी केंद्रीय पुलिस की तैनात किया है. घोषणा के अनुसार रायगंज चित्र में 78% और दार्जिलिंग क्षेत्र में 55% मतदान केंद्र में चार्ट से 8 जवान सेना तैनात रहेंगे विरोधियों का कहना है जहां पर राज्य पुलिस की कंट्रोल में चुनाव होगा वहां पर राज्य के शासक पार्टी तृणमूल कांग्रेस वोट में हेराफेरी करेंगे और दखलंदाजी करेंगे. इस दिन क्षेत्र के अंदर सबकी नजर इस पर टिकी हुई है. क्योंकि रायगंज क्षेत्र से पिछली बार जीत हासिल की थी. सीपीआईएम की नेता मोहम्मद सलीम इस बार उनकी विपक्ष में खड़े हुए कांग्रेस की पूर्व मंत्री कांग्रेस की पूर्व वरिष्ठ नेता प्रिया रंजन दशमुंसी की बीबी दीपा दास मुंशी है, जो कि इससे पहले एक बार इस क्षेत्र से चुनाव जीत चुकी थी.




उधर भाजपा का दावा है इस बार इस क्षेत्र से भाजपा की उम्मीदवार अपनी जीत हासिल करने में सक्षम रहेगी. आज रायगंज क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार के समर्थन में बांग्लादेश की जाने माने कलाकार फिर्दोष ने एक रैली की. जिसके लिए राज्य भाजपा ने चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज करवाई और चुनाव आयोग ने फिर्दोष को अपने देश वापस जाने की घोषणा कर दी.


उधर उत्तर दिनाजपुर में राज्य के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक रैली इतवार को संबोधित की. इस रैली से ममता बनर्जी ने बीजेपी के ऊपर हमला बोला. उन्होंने कहा देश को बचाने के लिए दिल्ली की सरकार की बदलना जरूरी है. एनआरसी कि मुद्दे पर उन्होंने कहा बंगाल में पहले इनको दिखाएं फिर भाजपा को हम आरती दिखाएंगे. अपने भाषण में ममता बनर्जी ने कहा धर्म के नाम पर लोगों की बटवारा हम नहीं मानेंगे. पूरे बंगाल में धर्मपुर क्षेत्र और जंगीपुर क्षेत्र में कांग्रेस भाजपा के साथ एडजस्ट कर लिया है. हाथ मिला चुके हैं. जबकि जंगीपुर क्षेत्र से पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटे कांग्रेस के उम्मीदवार है और बरहमपुर क्षेत्र से कांग्रेस की उम्मीदवार है कांग्रेस की वरिष्ठ नेता अधीर चौधरी इस दोनों क्षेत्र से कांग्रेस ने पिछले बार अपनी जीत हासिल की थी.




ममता बनर्जी ने अपने भाषण में यह भी बोला कि भाजपा ने दलित किसान और गरीबों के ऊपर अत्याचार किया. उन्होंने कहा जब मैं रेल मंत्री थी तो उत्तरी बंगाल को हमने कई रेल की सुविधा बी पर 5 साल में भाजपा ने एक भी रेल की घोषणा नहीं की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मैं भाजपा ने क्या किया पता नहीं पर मैंने बंगाल में 700000 से भी अधिक बेटी को पढ़ाने के लिए और बचाने के लिए कन्याश्री जैसे प्रकल्प घोषणा की है.





इधर जलपाईगुड़ी क्षेत्र में मायनगुरी विधानसभा के अधीन एक स्कूल में केंद्रीय सेना की खिलाफ ब्लू मून का आरोप है केंद्रीय की सेना जवान तृणमूल की नेताओं को डरा रही है और लोगों को भाजपा को मतदान करने के लिए प्रचार कर रहा है. सबसे चर्चित क्षेत्र हैं दार्जिलिंग जहां पिछले दो बार भाजपा ने जीत हासिल की पर इस बार इस क्षेत्र से जीते हुए भाजपा की सांसद सुरेंद्र सिंह आहलूवालिया को भाजपा ने उम्मीदवार नहीं बनाया है. इस बार भाजपा ने मणिपुर की रहने वाले राजू सिंह विस्ता को अपनी उम्मीदवार खड़ा किया. जहां तृणमूल कांग्रेस ने इस बार भूमि पुत्र दार्जिलिंग विधानसभा की विधायक अमर सिंह राय को अपना उम्मीदवार खड़ा किया. कम्युनिस्ट पार्टी ने भी इस क्षेत्र से पूर्व सांसद रहे सुमन पाठक को अपना उम्मीदवार खड़ा किया. और कांग्रेस ने भी इस क्षेत्र के अधीन नक्सलबाड़ी विधानसभा क्षेत्र की विधायक शंकर मालाकार को अपनी उम्मीदवार खड़ा किया. 48 घंटा बाद नितिन क्षेत्र की मतदान होगा अब देखना यह है यह 100% केंद्रीय जवान तैनात नहीं होते हुए भी विरोधियों ने अपनी जीत हासिल कर पाता है या नहीं.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it