Top
Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कोलकाता > मोदी जी, क्षमा करें मैं आपके शपथ ग्रहण में नहीं आ सकती, ममता ने बताया- ये बड़ा कारण

मोदी जी, क्षमा करें मैं आपके शपथ ग्रहण में नहीं आ सकती, ममता ने बताया- ये बड़ा कारण

मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से इनकार कर दिया है

 Special Coverage News |  29 May 2019 9:27 AM GMT  |  दिल्ली

मोदी जी, क्षमा करें मैं आपके शपथ ग्रहण में नहीं आ सकती, ममता ने बताया- ये बड़ा कारण
x

नई दिल्ली : पश्‍चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से इनकार कर दिया है. ममता बनर्जी ने इसका कारण उन मीडिया रिपोर्टों को बताया है, जिसमें कहा गया था कि शपथ ग्रहण समारोह में 54 उन परिवारों को निमंत्रित किया गया है, जो पश्‍चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के शिकार हुए थे. ममता बनर्जी ने शपथ ग्रहण में शामिल न होने के फैसले को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को SORRY भी बोला है.


ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में जो कहा है उसका मजमून इस प्रकार है:

पीएम नरेंद्र मोदी जी, आपको बधाई

मेरा प्‍लान था कि संवैधानिक आमंत्रण को देखते हुए मैं आपके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होऊं. लेकिन पिछले कुछ घंटों में मैंने अपना फैसला बदल दिया है. अभी कुछ मीडिया रिपोर्ट में खबरें आ रही हैं, जिसमें बीजेपी दावा कर रही है कि पश्‍चिम बंगाल में 54 राजनीतिक हिंसा की घटनाएं हुई हैं. यह पूरी तरह असत्‍य है. राज्‍य में राजनीतिक हिंसा की एक भी घटनाएं नहीं हुई हैं. ये सब घटनाएं आपसी दुश्‍मनी, पारिवारिक झगड़े और अन्‍य विवादों में हुई हैं. राजनीति से इन्‍हें जोड़ना गलत है. रिकॉर्ड में भी इस तरह का कोई जिक्र नहीं है.

इसलिए नरेंद्र मोदी जी, मैं दुख के साथ कहना चाहती हूं कि इन सब कारणों से मैं आपके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो पाऊंगी.

यह समारोह लोकतांत्रिक उत्‍सव मनाने का एक मौका था. किसी भी एक राजनीतिक दल को यह अधिकार नहीं है कि वह इसे अपने पक्ष में भुनाने की कोशिश करे.

कृपया मुझे माफ करें.

इससे पहले खबर आई थी कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगी. ममता बनर्जी ने एक दिन पहले कहा था, 'मैंने अन्य मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की. चूंकि यह एक औपचारिक कार्यक्रम है, इसलिए हमने इसमें जाने का निर्णय लिया है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it